नए साल में आबकारी विभाग के खजाने में जबरदस्त इजाफा.....यहाँ पर लोगों ने जमकर पी ली 77.82 करोड़ की शराब - revanchal times new

revanchal times new

निष्पक्ष एवं सत्य का प्रवर्तक

Breaking

रेवांचल टाइम्स अखबार पाठकों से अनुरोध करता है कि आप अपने सुझाव हम तक जरूर भेजें.. ताकि आने वाले समय मे हम आपकी मदद से और भी बेहतर कार्य कर सकें... साथ ही यदि आपको लेख अच्छा लगे तो इसे ओरों तक भी पहुंचाए.. प्रकाशन हेतु ख़बरें, विज्ञप्ति मोबाइल- 9406771592 पर व्हाट्सएप्प करें

 आवश्कता है  आवश्कता है ....

रेवांचल टाईम्स समाचार पत्र एव वेव पोर्टल में मध्यप्रदेश के सभी संभाग, जिला, तहसील, विकास खंडों, में संवाददाताओं की एंव विज्ञापनों व खबरों से सबंधित व्यक्ति संपर्क करें इन नम्बरों में 👉 9406771592/ 9425117297/ 8770297430/9165745947

Sunday, January 2, 2022

नए साल में आबकारी विभाग के खजाने में जबरदस्त इजाफा.....यहाँ पर लोगों ने जमकर पी ली 77.82 करोड़ की शराब




 रेवांचल टाइम्स: कोरोना विस्फोट के बीच राजस्थान )में नए साल के मौके पर खूब जाम छलके. आबकारी विभाग (Excise Department) के आंकड़ों के मुताबिक, 31 दिसंबर को राजस्थान में लोगों ने 77.82 करोड़ की शराब (Liquor) गटक ली. दिल्ली, एनसीआर और यूपी में नए साल के जश्न पर पाबंदी की वजह से लाखों की संख्या में पर्यटक राजस्थान पहुंचे है. 31 दिसंबर को जारी आबकारी विभाग के आंकड़ों के मुताबिक 12.69 करोड़ की बीयर, 65.13 करोड़ की आईएमएफएल की बिक्री हुई है. कोरोना की वजह से नुक़सान में चल रहे आबकारी विभाग के खजाने में जबरदस्त इजाफा हुआ है.


बुलानी पड़ी पुलिस
नए साल के जश्न के लिए पहुंचे पर्यटकों में शामिल दिल्ली की एक लड़की ने भरतपुर में ऐसा धमाल मचाया कि पुलिस बुलानी पड़ गई. दरअसल, लड़की ने शराब पीकर सड़क पर हंगामा शुरू कर दिया. साथियों और आसपास को लोगों के समझाने के बावजदू जब मामला शांत नहीं हुआ तो पुलिस को बुलाना पड़ गया.

बता दें कि कोरोना को लेकर कई राज्यों ने नए साल के जश्न पर पाबंदियां लगाई हैं. कई राज्यों में रात में नाइट कर्फ्यू भी जारी है. इसके उलट राजस्थान में नए साल के जश्न के लिए सरकार की ओर से पाबंदियां तो लगाई गई थी लेकिन सख्ती बरतने पर मनाही थी. सरकार का मानना था कि कोरोना की वजह से पहले से ही लोगों को व्यापार में नुकसान उठाना पड़ा है, ऐसे में नए साल के जश्न पर पाबंदी से उन्हें और अधिक नुकसान उठाना पड़ सकता है. सरकार ने राजस्व में भी बढ़ोतरी और टूरिज़्म को बढ़ाने के लिए नए साल के जश्न पर पाबंदी नहीं लगाई थी.

No comments:

Post a Comment