ब्रेकिंग न्यूज़... आदिवासी बाहुल्य क्षेत्र मंडला के मवई विकासखंड मैं लिफाफे के चक्कर में जारी किये, NGO ने फर्जी प्रमाण पत्र पांच दिन की ट्रेनिंग की एक ही दिन में... - revanchal times new

revanchal times new

निष्पक्ष एवं सत्य का प्रवर्तक

Breaking

रेवांचल टाइम्स अखबार पाठकों से अनुरोध करता है कि आप अपने सुझाव हम तक जरूर भेजें.. ताकि आने वाले समय मे हम आपकी मदद से और भी बेहतर कार्य कर सकें... साथ ही यदि आपको लेख अच्छा लगे तो इसे ओरों तक भी पहुंचाए.. प्रकाशन हेतु ख़बरें, विज्ञप्ति मोबाइल- 9406771592 पर व्हाट्सएप्प करें

Saturday, January 15, 2022

ब्रेकिंग न्यूज़... आदिवासी बाहुल्य क्षेत्र मंडला के मवई विकासखंड मैं लिफाफे के चक्कर में जारी किये, NGO ने फर्जी प्रमाण पत्र पांच दिन की ट्रेनिंग की एक ही दिन में...






रेवांचल टाईम्स - मंडला आदिवासी बाहुल्य जिला में न कोई देखने वाला है और न कोई सुनने वाला है केवल सभी जिम्मेदारो को अपनी जेब भरने की पड़ी हुई है। क्या सही है क्या गलत है उन्हें कोई मतलब नही है और कुछ नजर भी नही आता है। इन्हें तो केवल अपना निजी स्वार्थ दिखता है। राष्ट्रीय ग्राम स्वराज अभियान/ आर जी एस ए के अंतर्गत ग्राम सचिव एवं रोजगार सहायकों को पांच दिवसीय कंप्यूटर प्रशिक्षण अनुपमा एजुकेशन सोसायटी सतना के द्वारा ग्राम पंचायत सचिव एवं रोजगार सहायकों को पांच दिवसीय कंप्यूटर प्रशिक्षण दीया जा रहा है जो कि एक दिन मैं ही एक कमरे में फ्लेक्स लगाकर ग्राम पंचायतों के सचिव एवं रोजगार सहायकों को कुर्सियों पर बैठा दिया जाता है और फोटो एवं वीडियो बनाकर एक दिन में ही 5 दिनों का प्रशिक्षण प्रमाण पत्र जारी कर दिया जाता है ना ही वहां कोई कंप्यूटर लैब है ना कोई कंप्यूटर सेट बगैर लैब के प्रशिक्षण कैसे दिया जा रहा है सब अधिकारियों से मिलीभगत के चलते आदिवासी बाहुल्य क्षेत्र के लोगों को बेवकूफ बनाया जा रहा है। और एक दिन की ट्रेनिंग कर 5 दिन की ट्रेनिंग का सचिव रोजगार सहायक को बिना कंप्यूटर की ट्रेनिंग कराया जा रहा है यर कैसी ट्रेनिंग है और सरकार इन्हें कितना पैसा प्राप्त हुआ है यह जानकारी किसी को नही दी जा रही है यह भी मंडला के आदिवासियों के साथ ट्रेनिंग के नाम पर शासकीय राशि का बंदरबाट किया जा रहा है वही जनपद के मुख्य कार्यपालन अधिकारी की साठ गाठ से यह पूरा खेल चल रहा है।

      यह NGO अनुपमा एजुकेशन सोसायटी सतना का है जो कंप्यूटर प्रशिक्षण का प्रोजेक्ट मिला हुआ है 


प्रशिक्षण देने के नियम क्या है...

(1) क्या बगैर  कंप्यूटर लैब के प्रशिक्षण दिया जा सकता है

(2) क्या 5 दिन का प्रशिक्षण 1 दिन में ही प्रशिक्षण दिया जा सकता और 5 दिवस का प्रमाण पत्र समय से पहले जारी किया जा सकता है

(3)NGO के द्वारा मंडला जिले के विकास खंड मोहगांव, मवई ब्लॉक, घुगरी ब्लॉक अन्य सभी जगहो पर बगैर कंप्यूटर सेंटर के कमरे में फ्लेक्स  लगाकर मौखिक तौर पर ग्राम पंचायत सचिव एवं ग्राम रोजगार सहायकों को अनुपमा एजुकेशन सोसाइटी सतना के द्वारा प्रशिक्षण दिया जा रहा यह कितना सही है एक फिर मंडला जिले के साथ किया जा रहा है ट्रेनिंग के नाम पर धोका औऱ धड़ल्ले से उड़ाई जा रही सरकारी पैसों की होली... वही  सोमवार से वीजादांडी, नारायनगंज निवास में प्रारभ्भ की जायेगी सचिवों को ट्रेनिग...

                      इनका कहना है 

वर्तमान में कोरोना संक्रमण जारी है और सचिब, रोजगार सहायक के पास काम बहुत है जिसको देखते हुए पांच दिवसीय ट्रेनिंग को एक ही दिन में पूर्ण कर दी गई है साथ ही 10 जनवरी को मवई सभा कक्ष में सचिवों को दी गई ट्रेनिग के साथ साथ प्रमाण पत्र भी दे दिए गए है। कोरोना को ध्यान में रख कर ये ट्रेंनिग दी जा रही है।

                                  अरुण शर्मा 

                               प्रशिक्षण प्रभारी


No comments:

Post a Comment