ग़रीब किसान के 4 बकरों की मौत का कारण बना पशुचिकित्सालय... - revanchal times new

revanchal times new

निष्पक्ष एवं सत्य का प्रवर्तक

Breaking

रेवांचल टाइम्स अखबार पाठकों से अनुरोध करता है कि आप अपने सुझाव हम तक जरूर भेजें.. ताकि आने वाले समय मे हम आपकी मदद से और भी बेहतर कार्य कर सकें... साथ ही यदि आपको लेख अच्छा लगे तो इसे ओरों तक भी पहुंचाए.. प्रकाशन हेतु ख़बरें, विज्ञप्ति मोबाइल- 9406771592 पर व्हाट्सएप्प करें

Wednesday, January 5, 2022

ग़रीब किसान के 4 बकरों की मौत का कारण बना पशुचिकित्सालय...


रेवांचल टाईम्स - जहाँ पर सरकार के द्वारा जानवरों के लिए तरह तरह की योजनाएं संचालित है वही पशुअस्पताल में जिम्मेदार की लापरवाही के चलते इलाज़ करते ही बकरे बकरियो ने उनकी आंखों के सामने एक एक कर दम तोड़ दिया बाकी बकरियों की हालत नाजुक बनी हुई है

नजीराबाद पशुचिकित्सालय के जिम्मेदारों की लापरवाही के चलते 4 बकरे बकरियों की मौत हो गई 3 जनवरी को नजीराबाद निवासी रिहान खान/इरफान मोहम्मद अपनी बकरियों के नार्मल सर्दी का इलाज़ के लिए अस्पताल गया मौके पर अस्पताल में कोई नही मिलने पर जिम्मेदारों को फ़ोन किया इसके बाद बकरी मालिक रिहान को पशुचिकित्सक डॉ कपिल मालवीय द्वारा फ़ोन पर अस्पताल के महेश चंद्र शर्मा एबीएफओ से संम्पर्क करने को कहा उसके बाद तत्काल बकरी मालिक रिहान ने महेश चंद्र शर्मा से संम्पर्क कर डॉ कपिल मालवीय की बात कराई डॉ कपिल मालवीय ने भोपाल से शर्मा को इंजेक्शन का नाम बताकर लगाने का बोला फिर तत्काल शर्मा ने मौक़े पर जाकर बकरे बकरियों को लापरवाही पूर्वक इंजेक्शन लगाए इंजेक्शन लगाते ही एक एक कर बकरे एव बकरियों की तड़पते हुए मौतें होने लगी ऐसा नही की पशुचिकित्सालय में इस पहली बार हुआ हैं पूर्व नजीराबाद निवासी अशोक मालवीय एव अनवर खान की बकरियों के एबीएफओ शर्मा द्वारा इंजेक्शन लगाते ही मौते हो चुकी हैं ऐसे कई मामले पशुचिकित्सालय की लापरवाही के चलते ग्रामीण लोगो को भुगतने पड़ते हैं परन्तु 3 जनवरी की घटना की पूरी जानकारी एबीएफओ शर्मा ने तत्काल फोन पर डॉक्टर कपिल मालवीय को दी जिसके बाद डॉ कपिल मालवीय मामले की गंभीरता को देखते हुए भोपाल से नजीराबाद के लिए रवाना हुए नजीराबाद आकर डॉ कपिल मालवीय ने बकरी मालिक रिहान को समझाने के बजाए धमकाना चालू कर दिया और उल्टा थाने में बंद कराने की बात कहने लगे जिसके बाद बकरी मालिक द्वारा डॉ कपिल मालवीय से निवेदन करते हुए बकरियों का पोस्टमार्टम करने का एव जो इंजेक्शन आपने लगवाए थे उनका नाम बताने का कहा तो डॉक्टर द्वारा गुस्से में भड़कते हुए बकरे मालिक रिहान को अस्पताल से धक्के देकर बाहर कर दिया और बोलने लगे जहां बने वहां जाकर मेरी शिकायत कर देना और उठा तेरी बकरियां कही भी जाकर पोस्टमार्टम करा मुझे नही करना उसके बाद गरीब बकरी मालिक द्वारा अगले दिन भोपाल जाकर कलेक्टर सहित पशुचिकित्सालय उपसंचाल भोपाल के पास अपनी आप बीती सुनाई और शिकायती आवेदन दिया मौके से वरिष्ठ अधिकारी ने फोन पर डॉ कपिल मालवीय को बकरी मालिक के साथ अमानिविय व्यवहार एव गलत इंजेक्शन लगवाने के लिए फटकार लगाते हुए जाँच के आदेश दिए इस पूरे मामले में गरीब रिहान की खाने कमाने की जो बकरियां जीविका थी वो खत्म हो गई बाकी बचे जानवरो की इंजेक्शन लगने के बाद हालत ठीक नही हैं अपनी आखिरी सांसे गिन रहें।

No comments:

Post a Comment