शर्मनाक!घाटों पर हो रहा लाशों का सौदा, कोरोना मृतक का शव उठाने के मांगे 4 हजार - revanchal times new

revanchal times new

निष्पक्ष एवं सत्य का प्रवर्तक

Breaking

रेवांचल टाइम्स अखबार पाठकों से अनुरोध करता है कि आप अपने सुझाव हम तक जरूर भेजें.. ताकि आने वाले समय मे हम आपकी मदद से और भी बेहतर कार्य कर सकें... साथ ही यदि आपको लेख अच्छा लगे तो इसे ओरों तक भी पहुंचाए.. प्रकाशन हेतु ख़बरें, विज्ञप्ति मोबाइल- 9406771592 पर व्हाट्सएप्प करें

 आवश्कता है  आवश्कता है ....

रेवांचल टाईम्स समाचार पत्र एव वेव पोर्टल में मध्यप्रदेश के सभी संभाग, जिला, तहसील, विकास खंडों, में संवाददाताओं की एंव विज्ञापनों व खबरों से सबंधित व्यक्ति संपर्क करें इन नम्बरों में 👉 9406771592/ 9425117297/ 8770297430/9165745947

Tuesday, January 18, 2022

शर्मनाक!घाटों पर हो रहा लाशों का सौदा, कोरोना मृतक का शव उठाने के मांगे 4 हजार




रेवांचल टाईम्स :कोरोना के कारण हर तरफ खौफ का माहौल बना हुआ है वही एक तरफ जहां बिहार के लोग कोरोना से डरे हुए हैं, वहीं दूसरी तरफ इससे मरने वालों के परिवार वालों का दुख और दोगुना हो जाता है. एक तक असमय ही कोरोना से अपने प्रियजन को खोने का दुःख, तो दूसरी तरफ शवों का भी सौदा कर लेने वाले गिद्ध कोढ़ में खाज की भांति सता रहे हैं. स्थिति यह हैं कि राजधानी पटना में ही कोरोना से मृत हुए व्यक्तियों का शव उठाने तथा अंत्येष्टि को लेकर पैसे वसूलने का कारोबार जारी है.

खबर के अनुसार, पटना के शवदाह गृहों में मृतकों की अंत्येष्टि को लेकर समस्या नहीं हो, इसके लिए निगम ने नियम के साथ राशि तय की है. इसके बाद भी घाटों पर अंत्येष्टि की सामग्री बेचने वाले दुकानदारों की मनमानी से मृतकों के परिवारवाले परेशान हैं. विशेष कर कोरोना से मरे व्यक्तियों की अंत्येष्टि को लेकर राशि की मांग डबल होती है. जबकि कोरोना से मौत होने पर अंत्येष्टि के मुफ्त इंतजाम है. अंत्येष्टि के लिए निगमकर्मियों के अतिरिक्त दूसरे भी वहां रह कर दलालों से मिल कर काम कर रहे हैं.

वही सामने आया है कि सोमवार को नालंदा जिले के बड़हारा के एक कोरोना पॉजिटिव मरीज की मौत होने पर उसे अंत्येष्टि के लिए बांस घाट लाया गया था. शव के पहुंचते ही घाट पर अंत्येष्टि करनेवाले ने शव को उठाने के लिए 4 हजार रुपये की मांग की. वहीं इसके पहले मीडिया रिपोर्ट में सामने आया है कि पटना में शवघाट पर व्यक्तियों से अवैध वसूली की जा रही है. नगर निगम ने जहां इलेक्ट्रिक शवदाह का 300 रुपये शुल्क रखा है, वहां 600 रुपये तक वसूले जा रहे हैं. विडंबना यह है कि मृतक के परिवार वालों को 300 रुपये की रसीद ही दी जा रही है.

No comments:

Post a Comment