भ्रष्टाचार में डूबी पंचायत खैरा पलारी, दिया जा रहा है भू माफियाओं को खुला संरक्षण, सवालों के घेरे में पंचायत के सचिव, सरपंच, सहायक सचिव...जिम्मेदार... - revanchal times new

revanchal times new

निष्पक्ष एवं सत्य का प्रवर्तक

Breaking

रेवांचल टाइम्स अखबार पाठकों से अनुरोध करता है कि आप अपने सुझाव हम तक जरूर भेजें.. ताकि आने वाले समय मे हम आपकी मदद से और भी बेहतर कार्य कर सकें... साथ ही यदि आपको लेख अच्छा लगे तो इसे ओरों तक भी पहुंचाए.. प्रकाशन हेतु ख़बरें, विज्ञप्ति मोबाइल- 9406771592 पर व्हाट्सएप्प करें

Saturday, December 25, 2021

भ्रष्टाचार में डूबी पंचायत खैरा पलारी, दिया जा रहा है भू माफियाओं को खुला संरक्षण, सवालों के घेरे में पंचायत के सचिव, सरपंच, सहायक सचिव...जिम्मेदार...




रेवांचल टाईम्स - सिवनी जिले की जनपद केवलारी के अंतर्गत आने वाली ग्राम पंचायत खैरा पलारी के सरपंच सचिव के द्वारा खुला भ्रष्टाचार किया जा रहा है शासन और शासन की योजनाओं में प्राप्त राशि को खुलेआम बंदरबांट किया जा रहा है साथ ही शासकीय भूमि को लोगो से पैसे लेकर अतिक्रमण कराया जा रहा है।

       वही जानकारी के अनुसार सरपँच सचिब और पटवारी के समक्ष शासकीय चारागाह की भूमि पर अतिक्रमण कर, तालाब को पुरवा कर अतिक्रमण करवाया जा रहा है निर्माण कार्य तीव्र गति से ग्राम के सरपंच सचिव सहायक सचिव की शह पर यह कार्य किया जा रहा है भू माफिया के खिलाफ ग्राम पंचायत के द्वारा कोई कार्यवाही नही करना यह एक बड़ा सवाल है शासकीय भूमि धड़ल्ले से मकान निर्माण कार्य किए जा रहे हैं वीडियो में साफ दिख रहा है आखिर किसकी अनुमति आदेश से शासकीय चारागाह की भूमि पर बने हुए तालाब को पुरवा दिया गया, किस उच्च अधिकारी ने तालाब को पुरवाने की  इजाजत दी और आदेश पारित किया एवं अतिक्रमण कर मकान निर्माण का कार्य करने की इजाजत दी भू माफिया को।

शासकीय भूमि खसरा क्रमांक 233,235 पर ग्राम पंचायत खैरा पलारी द्वारा कांप्लेक्स का निर्माण कार्य दुकान को बेचा जा रहा है

आखिर किसकी अनुमति से पंचायत द्वारा कांप्लेक्स का निर्माण कार्य किया गया और किन-किन लोगों को कांप्लेक्स की दुकान बेची गई सवालों के घेरे में सरपंच,सचिव,सहायक सचिव, राजस्व विभाग के पटवारी।


सवालों के घेरे में ग्राम खैरा पलारी पंचायत के सचिव सरपंच सहायक सचिव


ग्राम सचिव खुद को बचाते हुए यह बोल रहे हैं के अतिक्रमण धारियों ने भू माफियाओं ने खुद तलाव को पुरवाया है पंचायत के तरफ से उनको किसी प्रकार की भी अनुमति प्रदान नहीं की गई है वह अपनी जिम्मेदारी पर निर्माण कार्य कर रहे हैं


सचिव से सूचना के अधिकार के तहत जानकारी मांगी गई है शासकीय भूमि खसरा क्रमांक 235, 233 पर किन-किन लोगों के निर्माण कार्य किए जा रहे हैं


सवाल पंचायत की कार्यप्रणाली पर भी उठ रहा है कि पंचायत के द्वारा अतिक्रमण करने वाले पर कार्यवाही क्यों नहीं की गई उन्हें अतिक्रमण करने से रुका क्यों नहीं गया क्या पंचायत द्वारा अतिक्रमण करने वाले लोगों के विरुद्ध नोटिस जारी किया गया था, यह साफ-साफ दर्शाता है कि ग्राम पंचायत खैरा पलारी द्वारा ही इन भू माफियाओं को संरक्षण प्राप्त है तभी इतनी तीव्र गति से निर्माण कार्य किए जा रहे हैं पंचायत का डर है ना ही शासन-प्रशासन का डर है बेखौफ निर्माण कार्य किया जा रहा है।


सवाल यह भी उठता है कि इतने बड़े तलाव की पुरवाई कैसे की गई होगी आप अंदाजा लगा सकते हैं आखिर किसने करवाई तलाव की पुरवाई, सूत्रों का कहना यह भी है कि तलाव पूर्वा कर प्लाट काटे गए हैं लोगों से प्लाट की कीमत वसूली गई है किस अधिकारी की इजाजत से तालाब की जमीन को पूर्वा कर प्लाट काटे गए सवालों के घेरे में ग्राम पंचायत खैरा पलारी।

शासकीय चारागाह भूमि 235 233 पर बने तलाव पर अवैध कब्जा कर मकान निर्माण कार्य करना गैर कानूनी है इस पर पंचायत ने साधी चुप्पी बेधड़क बनाए जा रहे हैं मकान अतिक्रमण धारियों के हौसले हुए बुलंद।


यदि पंचायत के द्वारा अति गरीबी रेखा गरीबी रेखा बीपीएल कार्ड धारक एसटी एससी के पात्र व्यक्तियों को भी वंचित कर धन्ना सेठों के मकान निर्माण कार्य तीव्र गति से शासकीय भूमि खसरा क्रमांक 235,233 पर किए जा रहे हैं यह साफ साफ दिख रहा है पंचायत के द्वारा इन्हें संरक्षण प्राप्त है तभी बेधड़क निर्माण कार्य किए जा रहे हैं

*उक्त अतिक्रमण धारियों का निर्माण कार्य रोके जाने एवं नियम विरुद्ध तलाव को पुरवा कर कब्जा कर अवैध निर्माण कार्य किए जाने पर मामला पंजीबद्ध कर दंडात्मक कार्यवाही की जाए, 

शासकीय भूमि खसरा क्रमांक 233 ,235 चारागाह भूमि अवैध कब्जा कर किए गए निर्माण कार्य से भूमि को मुक्त किया जाए।


शासकीय भूमि चारागाह भूमि 233, 235 पर तलाव को पुरवा कर निर्माण कार्य किया ही जाना था तो उक्त पात्र व्यक्तियों को पात्रता देनी चाहिए थी


अवैध अतिक्रमण को बढ़ावा देने वाले राजस्व हल्का क्रमांक 8 के पटवारी एवं पंचायत के सचिव , सरपंच, सहायक सचिव,पर ठोस कार्यवाही की मांग की गई है


लापरवाह राजस्व हल्का क्रमांक 8 के पटवारी किशोर शर्मा ने आवेदन लेने से इंकार किया था, तो कैलाश लाहोरी द्वारा जनहित के लिए 13/12/2021 को शासकीय भूमि खसरा क्रमांक 233, 235 पर अतिक्रमण धारियों द्वारा जोकि ग्राम निवासी एवं बाहर के निवासी हैं स्थगन संबंधित तहसीलदार के समक्ष आवेदन प्रस्तुत किया गया था, पटवारी जीने 13 /12 /2021 को बोला था मैं जल्द से जल्द जांच कर तहसीलदार के समक्ष जांच रिपोर्ट पेश कर दूंगा परंतु आज दिनांक 17/12/ 2021 तक पटवारी द्वारा किसी भी प्रकार की अतिक्रमण को रोकने हेतु कोई भी जांच रिपोर्ट तैयार नहीं की गई पटवारी की भारी लापरवाही।

       स्थानीय जागरूक समाजसेवी पत्रकार कैलाश लाहोरी ने उठाया खैरा पलारी का सबसे बड़ा अहम मुद्दा।

No comments:

Post a Comment