क्या आपकी भी कुंडली में कमजोर है सूर्य? तो पौष माह में करे ये कारगर उपाय - revanchal times new

revanchal times new

निष्पक्ष एवं सत्य का प्रवर्तक

Breaking

रेवांचल टाइम्स अखबार पाठकों से अनुरोध करता है कि आप अपने सुझाव हम तक जरूर भेजें.. ताकि आने वाले समय मे हम आपकी मदद से और भी बेहतर कार्य कर सकें... साथ ही यदि आपको लेख अच्छा लगे तो इसे ओरों तक भी पहुंचाए.. प्रकाशन हेतु ख़बरें, विज्ञप्ति मोबाइल- 9406771592 पर व्हाट्सएप्प करें

 आवश्कता है  आवश्कता है ....

रेवांचल टाईम्स समाचार पत्र एव वेव पोर्टल में मध्यप्रदेश के सभी संभाग, जिला, तहसील, विकास खंडों, में संवाददाताओं की एंव विज्ञापनों व खबरों से सबंधित व्यक्ति संपर्क करें इन नम्बरों में 👉 9406771592/ 9425117297/ 8770297430/9165745947

Sunday, December 19, 2021

क्या आपकी भी कुंडली में कमजोर है सूर्य? तो पौष माह में करे ये कारगर उपाय



जिंदगी में कामयाबी के लिए कुंडली में सूर्य का मजबूत होना बहुत आवश्यक है. सूर्य के मजबूत होने पर मनुष्य बेहद आत्मविश्वासी होता है. वो बहुत नाम और पैसा कमाता है, साथ ही तेजी से कामयाबी की सीढ़ी चढ़ता है तथा प्रत्येक जगह मान सम्मान प्राप्त करता है. मगर सूर्य की स्थिति कमजोर होने पर शख्स की जिंदगी समस्याओं से घिर जाती है. ऐसे शख्स के पिता से रिश्ते अच्छे नहीं होते. नौकरी एवं कारोबार में नुकसान झेलना पड़ता है तथा मान प्रतिष्ठा में भी कमी आती है. यदि आपके साथ भी ऐसा कुछ है तो पौष का माह आपके लिए बहुत फलदायी सिद्ध हो सकता है. पौष का माह भगवान सूर्य की आराधना का होता है. 20 दिसंबर से पौष के महीने का आरम्भ हो रहा है. इस महीने में आप सूर्यदेव की पूजा करके उन्हें सरलता से खुश कर सकते हैं तथा सूर्य से जुड़ी समस्याओं से छुटकारा पा सकते हैं. यहां जानिए कुछ ऐसे उपायों के बारे में जो आपकी कुंडली में सूर्य की स्थिति को मजबूत करने में मददगार हैं.

सूर्य मजबूत करने के उपाय:-
– रविवार का दिन सूर्य देव को समर्पित होता है. वहीं पौष के माह का रविवार कहीं अधिक अहम होता है. इस माह में आप रविवार का व्रत रखकर सूर्यदेव की कृपा प्राप्त कर सकते हैं. इस व्रत को रखने से सुख, समृद्धि तथा स्वास्थ्य का वरदान मिलता है, साथ ही मनुष्य का तेज, बल, यश बढ़ता है तथा उसकी त्वचा संबंधी सभी बीमारी दूर होती हैं.

– एक तांबे के लोटे में जल, लाल चंदन, गुड़ तथा लाल रंग का फूल डालकर भगवान सूर्य को चढ़ाएं. इससे आपका सूर्य मजबूत होगा.

– विधि-विधान से पूजा करके हाथ में तांबे का कड़ा धारण करें. आवश्यक काम के लिए घर से निकलने से पहले गुड़ खाकर पानी पीएं.

– सोने से पहले सिरहाने पर तांबे के लोटे में पानी रखकर सो जाएं तथा प्रातः उठकर उस पानी को पी लें. इससे आपका पाचन अच्छा रहेगा.

– प्रतिदिन सूर्य देव के मंत्रों का जाप करें. मंत्र इस तरह हैं.

ॐ घृणिः सूर्य आदिव्योम
ॐ हृां हृीं सः सूर्याय नमः
शत्रु नाशाय ॐ हृीं हृीं सूर्याय नम:

– सूर्य देव का आदित्य हृदय स्तोत्र भी बहुत लाभदायी है. पौष के माह में इस स्तोत्र का पाठ रोजाना प्रातः नियमित तौर पर किया जाए तो मनुष्य की जिंदगी में बहुत जल्दी ही सकारात्मक बदलाव देखने को मिलते हैं.

– रविवार के दिन लाल मसूर, लाल वस्त्र, गुड़, तांबा आदि किसी जरूरतमंद को दान करें. इससे भी सूर्य मजबूत होता है.

No comments:

Post a Comment