भगवान टंट्या भील को लुटेरा कहने वाले भाजपा के मंत्री का आदिवासी कांग्रेस ने किया पुतला दहन... - revanchal times new

revanchal times new

निष्पक्ष एवं सत्य का प्रवर्तक

Breaking

रेवांचल टाइम्स अखबार पाठकों से अनुरोध करता है कि आप अपने सुझाव हम तक जरूर भेजें.. ताकि आने वाले समय मे हम आपकी मदद से और भी बेहतर कार्य कर सकें... साथ ही यदि आपको लेख अच्छा लगे तो इसे ओरों तक भी पहुंचाए.. प्रकाशन हेतु ख़बरें, विज्ञप्ति मोबाइल- 9406771592 पर व्हाट्सएप्प करें

 आवश्कता है  आवश्कता है ....

रेवांचल टाईम्स समाचार पत्र एव वेव पोर्टल में मध्यप्रदेश के सभी संभाग, जिला, तहसील, विकास खंडों, में संवाददाताओं की एंव विज्ञापनों व खबरों से सबंधित व्यक्ति संपर्क करें इन नम्बरों में 👉 9406771592/ 9425117297/ 8770297430/9165745947

Thursday, December 2, 2021

भगवान टंट्या भील को लुटेरा कहने वाले भाजपा के मंत्री का आदिवासी कांग्रेस ने किया पुतला दहन...






रेवांचल टाईम्स - मण्डला भाजपा का आदिवासी प्रेम महज दिखावा है, इनके मन में आदिवासी समाज के लिए सिर्फ शोषण और अपमान की ही भावना है। इनके मंत्री आये दिन आदिवासी समाज के मान सम्मान के खिलाफ अनर्गल बयानबाजी करते हैं और मुख्यमंत्री आदिवासी प्रेम का दिखावा करते हैं। इनका असली चेहरा इनके मंत्री कमल पटेल ने सामने लाया है और भगवान टंट्या भील को लुटेरा कहकर इन्होंने भाजपा की आदिवासी समाज के प्रति असली सोच को जाहिर किया है। व्यापमं कांड, डम्फर कांड, ई टेण्डर घोटाला सहित अनेक भ्रष्टाचार के आरोपों से घिरे मुख्यमंत्री शिवराज सिंह की तुलना भगवान टंट्या भील से करना भी आदिवासी समाज का अपमान है, जिसके विरोध में अभी तो हमने सिर्फ पुतला जलाया है यदि मंत्री ने माफी नहीं मांगी तो आदिवासी कांग्रेस के नेतृत्व में सम्पूर्ण आदिवासी समाज उग्र प्रदर्शन करेगा। यह कहना है बिछिया विधानसभा के विधायक का, जिन्होंने बुधवार को घुघरी मुख्यालय में आदिवासी कांग्रेस द्वारा आयोजित भाजपा सरकार के मंत्री कमल पटेल के पुतला दहन प्रदर्शन में सम्मिलित होने के दौरान ये बातें कहीं। घुघरी मुख्यालय में आदिवासी कांग्रेस के जिला अध्यक्ष राधे शाह मरावी के नेतृत्व में भाजपा सरकार के मंत्री कमल पटेल का पुतला दहन किया गया। इस दौरान आदिवासी कांग्रेस के प्रदेश महासचिव कमल सिंह मरावी ने कहा कि भाजपा की असली सोच आदिवासी समाज के विरोध की है, इसलिए इनके गैर आदिवासी मंत्री जब चाहे तब आदिवासी समाज का अपमान करते हैं। भाजपा की प्रदेश सरकार तो अब आदिवासी समाज के लोगों से उनकी जमीन भी छीने जाने का कानून संशोधन करने पर आमादा है। भू राजस्व संहिता 1959 की धारा 159 एवं 162 में संशोधन करके आदिवासियों की जमीन गैर आदिवासी को बेचे जाने का नियम बनाने की तैयारी की जा रही है। कमेटी गठित कर दी गई है शायद विधानसभा में विधेयक पेश करके इसका संशोधन भी करा लिया जाएगा। अब आदिवासी समाज के नागरिकों के पास उनकी अपनी जमीन भी सुरक्षित नहीं रहेगी, पूंजीपति इन जमीनों को खरीद सकेंगे ताकि आदिवासी समाज का नागरिक गरीब से और गरीब हो जाये। इनकी सोच ही यही है, इसलिए यह पुतला दहन मंत्री कमल पटेल के साथ भाजपा सरकार की आदिवासी विरोधी सोच का भी पुतला दहन है। इस दौरान विधायक नारायण सिंह पट्टा, प्रदेश महासचिव आदिवासी कांग्रेस कमल सिंह मरावी, आदिवासी कांग्रेस जिला अध्यक्ष राधे शाह मरावी, ब्लॉक कांग्रेस अध्यक्ष अरविंद कुशराम, आदीवासी कांग्रेस महिला प्रकोष्ठ जिलाध्यक्ष श्रीमती गंगाबाई आर्मो, जिला कांग्रेस महामंत्री नेतराम साहू, जिला मंत्री देवेंद्र दीक्षित, युवक कांग्रेस ब्लॉक अध्यक्ष अनुराग शर्मा, मंडलम अध्यक्ष संजू पटेल, महिला कांग्रेस ब्लॉक अध्यक्ष श्री मति जानकी कुसमरिया, गीता मरावी, अनिता मरावी, सुषमा मरावी, राजसिंह पट्टा, अमर मांडवे, जिला महासचिव अतुल सोनी, विधान सभा सचिव मनीष चौधरी, विकास दीक्षित, सरपंच हम्मी मरावी, नगर अध्यक्ष अरविंद झरिया, पंकज झरिया, ओमकार झरिया, गिरवर मरावी, मोहन मरावी, अखिलेश बेंद्रे, ब्लॉक कांग्रेस आईटी सेल घुघरी ब्लॉक अध्यक्ष मनोज सोनवानी ( मोंटी) शिवम सहित कांग्रेस पार्टी के समस्त संगठनों के पदाधिकारी कार्यकर्ता एवं सर्व आदिवासी सामाजिक संगठनों के कार्यकर्ता सहित काफी संख्या में कांग्रेस कार्यकर्ताओं की उपस्थिति रही।

No comments:

Post a Comment