दिसबंर के पहले दिन से महंगाई का झटका! , जानें और क्या-क्या लगे झटकें - revanchal times new

revanchal times new

निष्पक्ष एवं सत्य का प्रवर्तक

Breaking

रेवांचल टाइम्स अखबार पाठकों से अनुरोध करता है कि आप अपने सुझाव हम तक जरूर भेजें.. ताकि आने वाले समय मे हम आपकी मदद से और भी बेहतर कार्य कर सकें... साथ ही यदि आपको लेख अच्छा लगे तो इसे ओरों तक भी पहुंचाए.. प्रकाशन हेतु ख़बरें, विज्ञप्ति मोबाइल- 9406771592 पर व्हाट्सएप्प करें

 आवश्कता है  आवश्कता है ....

रेवांचल टाईम्स समाचार पत्र एव वेव पोर्टल में मध्यप्रदेश के सभी संभाग, जिला, तहसील, विकास खंडों, में संवाददाताओं की एंव विज्ञापनों व खबरों से सबंधित व्यक्ति संपर्क करें इन नम्बरों में 👉 9406771592/ 9425117297/ 8770297430/9165745947

Wednesday, December 1, 2021

दिसबंर के पहले दिन से महंगाई का झटका! , जानें और क्या-क्या लगे झटकें


रेवांचल टाईम्स : देश में अब बढ़ती महंगाई (Inflation) ने हद कर दी है, जिसके चलते आम आदमी का जीना मुश्किल हो गया है। आम आदमी को दो वक्त का खाना भी अब चेन से नसीब नहीं हो रहा है। दिसंबर की शुरुआत के साथ ही आम जनता पर महंगाई की मार (Inflation Shock from 1st December) फिर से पड़ी है और कई चीजों में बदलाव आया है। आज से आम जनता को कई चीजों पर पहले की तुलना में ज्यादा पैसे खर्च करने पड़ेंगे।

गैस सिलेंडर के बढ़े 100 रुपए
1 दिसंबर यानि आज से गैस सिलेंडर (gas cylinder) पर अब ज्यादा पैसे खर्च करने होंगे। सरकारी तेल कंपनियों ने गैस सिलेंडर की कीमतों में 100 रुपए की वृद्धि की है। ये बढ़ी हुई कीमत कामर्शियल सिलेंडर पर लागू होगी। घरेलू गैस की कीमतों में फिलहाल कोई बदलाव नहीं हुआ है। लेकिन कंपनियों का कोई भरोसा नहीं है कब कीमतें बढ़ा दे। राजधानी दिल्ली में तो कमर्शियल सिलेंडर का रेट 2101 रुपये पहुच गया है।

SBI का झटका, ईएमआई हुई महंगी
1 दिसंबर से एसबीआई क्रेडिट कार्ड से ईएमआई के जरिए खरीदारी करने पर ज्यादा पैसे देने होंगे। 1 दिसंबर 2021 से सभी ईएमआई खरीदारी पर 99 रुपये ज्यादा खर्च करने होंगे।

माचिस की डिब्बी अब 1 की जगह मिलेगी 2 रुपए में
देश में बढ़ती महंगाई ने माचिस की डिब्बी को भी नहीं बक्शा। दिसंबर की शुरूआत के साथ ही माचिस की डिब्बी भी महंगी हो गई है। अब माचिस की एक डिब्बी लेने के लिए 1 रुपए की जगह 2 रुपए खर्च देने होंगे। हालांकि, माचिस की कीमत में ये वृद्धि 14 साल बाद की गई है लेकिन इस बीच माचिस की तिल्लियों की संख्या और क्वाॅलिटी में कमी कर दी गई।

No comments:

Post a Comment