दक्षिण अफ्रीकी डॉक्टरों ने बताए कोरोना के नए वारियंट ओमीक्रोन के लक्षण - revanchal times new

revanchal times new

निष्पक्ष एवं सत्य का प्रवर्तक

Breaking

रेवांचल टाइम्स अखबार पाठकों से अनुरोध करता है कि आप अपने सुझाव हम तक जरूर भेजें.. ताकि आने वाले समय मे हम आपकी मदद से और भी बेहतर कार्य कर सकें... साथ ही यदि आपको लेख अच्छा लगे तो इसे ओरों तक भी पहुंचाए.. प्रकाशन हेतु ख़बरें, विज्ञप्ति मोबाइल- 9406771592 पर व्हाट्सएप्प करें

 आवश्कता है  आवश्कता है ....

रेवांचल टाईम्स समाचार पत्र एव वेव पोर्टल में मध्यप्रदेश के सभी संभाग, जिला, तहसील, विकास खंडों, में संवाददाताओं की एंव विज्ञापनों व खबरों से सबंधित व्यक्ति संपर्क करें इन नम्बरों में 👉 9406771592/ 9425117297/ 8770297430/9165745947

Tuesday, November 30, 2021

दक्षिण अफ्रीकी डॉक्टरों ने बताए कोरोना के नए वारियंट ओमीक्रोन के लक्षण



दक्षिण अफ्रीका के चिकित्सकों (South African doctors) का कहना है कि कोरोना वायरस (coronavirus) के नए वारियंट ओमीक्रोन (Omicron ) के चलते संक्रमण के मामलों में जो तेज वृद्धि देखी जा रही है, उनमें से अधिकतर में लक्षण हल्के (Omicron symptoms) हैं. गौतेंग प्रांत के एक चिकित्सक डॉ. उनबेन पिल्लै का कहना है कि उन्होंने पिछले 10 दिनों में कोविड​​-19 के नये मामलों में तेज वृद्धि देखी है. देश में नए मामलों में से 81 प्रतिशत मामले गौतेंग प्रांत में सामने आए हैं.


डॉ. उनबेन पिल्लै ने कहा कि अब तक मामलों में लक्षण बहुत हल्के रहे हैं. उन्होंने कहा कि मरीजों में फ्लू जैसे लक्षण, सूखी खांसी, बुखार, रात को पसीना आना, शरीर में दर्द होना शामिल है. उन्होंने कहा कि ज्यादातर का इलाज घर पर ही किया गया है. उन्होंने यह भी कहा कि संक्रमितों में से टीका ले चुके लोगों की स्थिति टीका नहीं लेने वालों से बहुत बेहतर है. दक्षिण अफ्रीका में कोविड-19 के मामलों में हालिया वृद्धि युवाओं में सामने आई है. डॉक्‍टर इस बात पर जोर देते हैं कि युवाओं में कोविड​​-19 के लक्षण अक्सर हल्के होते हैं.

भारत में ओमीक्रोन का मामला नहीं, लेकिन चिंताएं बढ़ीं; द अफ्रीका से लौटने वाले व्यक्ति के नमूने की जांच जारी
भारत में अभी तक कोरोना वायरस के नये स्वरूप ‘ओमीक्रोन’ का कोई मामला सामने नहीं आया है, लेकिन कर्नाटक के स्वास्थ्य मंत्री ने सोमवार को कहा कि हाल ही में दक्षिण अफ्रीका से लौटे दो लोगों में से एक का नमूना डेल्टा स्वरूप से अलग प्रतीत होता है. हालांकि, विशेषज्ञों ने जोर देकर कहा कि टीका इस वायरस के खिलाफ एक महत्वपूर्ण हथियार बना हुआ है.

अभी तक स्पष्ट नहीं है कि क्या नया स्वरूप अधिक संक्रामक है
डब्ल्यूएचओ ने कहा है कि यह अभी तक स्पष्ट नहीं है कि क्या नया स्वरूप अधिक संक्रामक है या अधिक गंभीर बीमारी का कारण बनता है, लेकिन भारत में राज्यों के अधिकारियों ने नई स्थिति से निपटने के प्रयास तेज कर दिये हैं.

पॉजिटिव पाए गए महाराष्ट्र के ठाणे के 32 वर्षीय मर्चेंट नेवी इंजीनियर को पृथकवास में रखा गया
दक्षिण अफ्रीका से लौटने के बाद कोरोनावायरस की जांच में पॉजिटिव पाए गए महाराष्ट्र के ठाणे के 32 वर्षीय मर्चेंट नेवी इंजीनियर को पृथकवास में रखा गया है और उसका नमूना जीनोम अनुक्रमण के लिए भेजा गया है. कल्याण डोंबिवली नगर निगम (केडीएमसी) की महामारी नियंत्रण अधिकारी डॉ प्रतिभा पनपाटिल ने कहा कि इसका परिणाम सात दिनों के बाद पता चलेगा.

बेंगलुरु पहुंचे दो व्यक्तियों में से एक का नमूना डेल्टा स्वरूप से अलग
इस बीच, कर्नाटक के स्वास्थ्य मंत्री डॉ के. सुधाकर ने कहा कि हाल ही में दक्षिण अफ्रीका से बेंगलुरु पहुंचे दो व्यक्तियों में से एक का नमूना डेल्टा स्वरूप से अलग प्रतीत होता है. उन्होंने कहा, एक 63 वर्षीय व्यक्ति है, जिसका नाम मुझे नहीं बताना चाहिए. उसकी रिपोर्ट थोड़ी अलग है. यह डेल्टा स्वरूप से अलग प्रतीत होता है. हम आईसीएमआर अधिकारियों के साथ चर्चा करेंगे और फिर लोगों को बताएंगे कि यह क्या है.

विशेषज्ञों ने कहा- ओमीक्रोन स्वरूप बहुत ही खतरनाक है
विशेषज्ञों ने सोमवार को कहा कि ओमीक्रोन स्वरूप बहुत ही खतरनाक है और यह अधिक संक्रामक है, हालांकि उन्होंने टीके को महत्वपूर्ण कोविड-रोधी उपाय बताया है. डब्ल्यूएचओ ने भी पिछले सप्ताह दक्षिण अफ्रीका में पहली बार मिले कोविड के नए स्वरूप बी.1.1.529 को चिंता का कारण बताया है.

विश्व भर में कोरोना के नए स्वरूप के मद्देनजर सतर्कता जारी
इस बीच तमिलनाडु सरकार ने भी सोमवार को स्पष्ट किया कि राज्य में ओमीक्रोन का कोई मामला सामने नहीं आया है. उधर विश्व भर में कोरोना के नए स्वरूप के मद्देनजर पंजाब के उप मुख्यमंत्री ओ पी सैनी ने राज्य के हवाईअड्डों पर आने वाले यात्रियों की सख्त निगरानी करने का आदेश दिया है. उन्होंने कोविड की तीसरी लहर की आशंका के मद्देनजर तैयारियों का जायजा भी लिया.

गोवा सरकार कोविड-19 स्थिति का जायजा लेने के लिए बैठक करेगी
गोवा सरकार मंगलवार को कोविड-19 स्थिति का जायजा लेने के लिए एक बैठक आयोजित करेगी. मुख्यमंत्री प्रमोद सांवत ने कहा कि कोरोना से संबंधित सभी दिशानिर्देशों का अनुपालन किया जा रहा है तथा हवाईअड्डे और रेलवे स्टेशनों पर तैनात कर्मियों को अधिक चौकस रहने को कहा गया है.

No comments:

Post a Comment