Kartik Purnima 2021 Upay: कार्तिक पूर्णिमा के दिन जरूर करें ये 4 काम, घर में आएगी सुख-समृद्धि - revanchal times new

revanchal times new

निष्पक्ष एवं सत्य का प्रवर्तक

Breaking

रेवांचल टाइम्स अखबार पाठकों से अनुरोध करता है कि आप अपने सुझाव हम तक जरूर भेजें.. ताकि आने वाले समय मे हम आपकी मदद से और भी बेहतर कार्य कर सकें... साथ ही यदि आपको लेख अच्छा लगे तो इसे ओरों तक भी पहुंचाए.. प्रकाशन हेतु ख़बरें, विज्ञप्ति मोबाइल- 9406771592 पर व्हाट्सएप्प करें

 आवश्कता है  आवश्कता है ....

रेवांचल टाईम्स समाचार पत्र एव वेव पोर्टल में मध्यप्रदेश के सभी संभाग, जिला, तहसील, विकास खंडों, में संवाददाताओं की एंव विज्ञापनों व खबरों से सबंधित व्यक्ति संपर्क करें इन नम्बरों में 👉 9406771592/ 9425117297/ 8770297430/9165745947

Sunday, November 14, 2021

Kartik Purnima 2021 Upay: कार्तिक पूर्णिमा के दिन जरूर करें ये 4 काम, घर में आएगी सुख-समृद्धि



Kartik Purnima 2021 Upay: हिंदू धर्म में हर पूर्णिमा का काफी महत्व होता है. लेकिन कार्तिक मास में आने वाली पूर्णिमा का खास महत्व होता है. इस बार कार्तिक पूर्णिमा (Kartik Purnima 2021) 19 नवंबर 2021 के दिन शुक्रवार को पड़ रही है. पूर्णिमा तिथि भगवान विष्णु (Bhagwan Vishnu) और माता लक्ष्मी (Mata Laxami) को प्रिय होती है. इस दिन को त्रिपुरारी पूर्णिमा के नाम से भी जाना जाता है साथ ही इस दिन काशी में देव दिवाली मनाने की भी परंपरा है. इसी दिन साल का आखिरी चंद्र ग्रहण (Chandra Grahan 2021) भी लगने जा रहा है. मान्यता है कि कार्तिक पूर्णिमा (Kartik Purnima Kab Hai) के दिन कुछ कार्यों को जरूर करना चाहिए. आइए जानते हैं उन कार्यों के बारे में

स्नान और दान- कार्तिक पूर्णिमा पर देवता पृथ्वी पर आकर गंगा में स्नान करते हैं इसलिए इस दिन गंगा स्नान अवश्य करना चाहिए या फिर पानी में गंगाजल डालकर स्नान करना चाहिए. इसी के साथ पूर्णिमा पर क्षमतानुसार अन्न वस्त्र का दान करना चाहिए. पूर्णिमा तिथि पर चावलों का दान करना बहुत ही शुभ माना जाता है.

तुलसी पूजन- पूर्णिमा के दिन भगवान विष्णु की बूजा का जाती है और भगवान विष्णु को तुलसी अतिप्रिय है. इसलिए पूर्णिमा के दिन तुलसी पूजन करना शुभ माना जाता है. ऐसा करने से घर में सुख-समृद्धि और सकारात्मकता का आगमन होता है.

दीपदान- कार्तिक पूर्णिमा पर दीपदान करना बेहद शुभ माना जाता है, क्योंकि इस दिन देव दीपावली भी होती है. कार्तिक पूर्णिमा के दिन किसी नदी या सरोवर के किनारे दीपदान अवश्य करना चाहिए. यदि नदी या सरोवर पर नहीं जा सकते तो देवस्थान पर जाकर दीपदान करना चाहिए.

लक्ष्मी नारायण की पूजा- पूर्णिमा तिथि पर व्रत रखकर भगवान विष्णु और लक्ष्मी जी का पूजन करना चाहिए व चंद्रमा दर्शन करने के साथ ही अर्घ्य भी देना चाहिए. माना जाता है कि कार्तिक पूर्णिमा पर व्रत करने से सूर्य लोक की प्राप्ति होती है.

No comments:

Post a Comment