देशभर में देशव्यापी किसान विजय दिवस मनाएगी कांग्रेस - revanchal times new

revanchal times new

निष्पक्ष एवं सत्य का प्रवर्तक

Breaking

रेवांचल टाइम्स अखबार पाठकों से अनुरोध करता है कि आप अपने सुझाव हम तक जरूर भेजें.. ताकि आने वाले समय मे हम आपकी मदद से और भी बेहतर कार्य कर सकें... साथ ही यदि आपको लेख अच्छा लगे तो इसे ओरों तक भी पहुंचाए.. प्रकाशन हेतु ख़बरें, विज्ञप्ति मोबाइल- 9406771592 पर व्हाट्सएप्प करें

 आवश्कता है  आवश्कता है ....

रेवांचल टाईम्स समाचार पत्र एव वेव पोर्टल में मध्यप्रदेश के सभी संभाग, जिला, तहसील, विकास खंडों, में संवाददाताओं की एंव विज्ञापनों व खबरों से सबंधित व्यक्ति संपर्क करें इन नम्बरों में 👉 9406771592/ 9425117297/ 8770297430/9165745947

Saturday, November 20, 2021

देशभर में देशव्यापी किसान विजय दिवस मनाएगी कांग्रेस



नई दिल्ली। केंद्र सरकार के तीनों कृषि कानून वापस लेने की घोषणा बाद कांग्रेस ने किसान आंदोलन के मुद्दे पर अपनी रणनीति बदलते हुए शनिवार को देशभर में किसान विजय दिवस मनाने और विजय रैली के आयोजित करने का फैसला किया है। दरअसल पेट्रोल-डीजल के दामों के रोलबैक के बाद ये दूसरा बड़ा फैसला है जो केंद्र सरकार ने जनता के विरोध के बाद लिया है। अब मंहगाई समते सभी मुद्दों को कांग्रेस भुनाने की पूरी तैयारी में है। इसी सिलसिले में कांग्रेस के संगठन महासचिव के सी वेणुगोपाल ने शुक्रवार को सभी राज्यों को पत्र लिखकर कहा है कि तीनों कृषि कानूनों की वापसी के बाद देशभर में शनिवार को कांग्रेस पार्टी की ओर से किसान विजय दिवस मनाया जाए। तीनों कानून केंद्र सरकार द्वारा वापस लेने का जश्न जन-जन तक पहुंचाया जाए, साथ ही किसान विजय रैली का आयोजन किया जाए। कांग्रेस का सभी प्रदेश अध्यक्षों को किसान विजय दिवस मनाने के लिये जिले स्तर से- ब्लॉक स्तर तक कार्यकर्ता को ये निर्देश दिया गया है।
इससे पहले कांग्रेस पार्टी ने 14 नवम्बर से देशभर में केंद्र सरकार की नीतियों के खिलाफ जनजागरण अभियान चलाने का फैसला किया था। कांग्रेस ने पेट्रोल-डीजल के दाम, बेरोजगारी, महंगाई जैसे तमाम मुद्दों पर ये अभियान शुरू किया। पार्टी ने दांडी मार्च की तर्ज पर कांग्रेस नेताओं और कार्यकर्ताओं द्वारा पैदल मार्च और प्रभातफेरी निकालने का फैसला किया था।

जिसके बाद केंद्र ने आम जनता को राहत देते हुए पेट्रोल-डीजल के दामों से एक्साइज ड्यूटी कम दी। वहीं शुक्रवार को केंद्र सरकार की ओर से तीनों कृषि कानून वापस ले लिए। केंद्र द्वारा लिए गये इन फैसलों के बाद कांग्रेस पार्टी ने अपनी जनजागरण अभियान की रणनीति में बदलाव किया है।

No comments:

Post a Comment