पति से नाराज पत्नी ने 300 फीट गहरे धुआंधार वॉटर फॉल में लगाई छलांग, जाने फिर क्‍या हुआ ? - revanchal times new

revanchal times new

निष्पक्ष एवं सत्य का प्रवर्तक

Breaking

रेवांचल टाइम्स अखबार पाठकों से अनुरोध करता है कि आप अपने सुझाव हम तक जरूर भेजें.. ताकि आने वाले समय मे हम आपकी मदद से और भी बेहतर कार्य कर सकें... साथ ही यदि आपको लेख अच्छा लगे तो इसे ओरों तक भी पहुंचाए.. प्रकाशन हेतु ख़बरें, विज्ञप्ति मोबाइल- 9406771592 पर व्हाट्सएप्प करें

 आवश्कता है  आवश्कता है ....

रेवांचल टाईम्स समाचार पत्र एव वेव पोर्टल में मध्यप्रदेश के सभी संभाग, जिला, तहसील, विकास खंडों, में संवाददाताओं की एंव विज्ञापनों व खबरों से सबंधित व्यक्ति संपर्क करें इन नम्बरों में 👉 9406771592/ 9425117297/ 8770297430/9165745947

Friday, November 26, 2021

पति से नाराज पत्नी ने 300 फीट गहरे धुआंधार वॉटर फॉल में लगाई छलांग, जाने फिर क्‍या हुआ ?



जबलपुर । जबलपुर के भेड़ाघाट (Bhedaghat) में ऐसा वाकया हुआ जिसने भी देखा उसके मुंह से चीख निकल गयी. पूरे 13 मिनट तक सबकी सांस अटकी रही. सब ईश्वर को याद कर रहे थे और 300 फीट गहरे धुआंधार वॉटर फॉल (Dhundhar Waterfall) में नजरें टिकाए थे. दरअसल यहां एक महिला ने पानी में छलांग लगा दी थी. जिंदगी और मौत के बीच पूरे 13 मिनट तक संघर्ष चला. इसका वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल हो रहा है. रोंगटे खड़े कर देने वाली इस घटना के चश्मदीद भेड़ाघाट पर सैर करने आए दर्जनों सैलानी बने.

दोपहर का वक्त था. रोज की तरह जबलपुर के भेड़ाघाट पर्यटन स्थल पर सैलानियों की भीड़ थी. लोग सैर सपाटा कर रहे थे. मौज मस्ती चल रही थी. बस उसी दौरान उन्हीं के बीच खड़ी एक महिला अचानक धुआंधार जल प्रपात की रेलिंग फांदकर पानी में कूद गयी. लोगों के मुंह से चीख निकल गयी. एकदम चीख पुकार मचने लगी. सब उस महिला को बचाने के लिए चिल्लाने लगे. लेकिन काम मुश्किल था क्योंकि सब लोग तैरना नहीं जानते थे.

एक एक पल जान पर भारी
भेड़ाघाट पर बीसियों गोताखोर भी मौजूद रहते हैं. इसी चीख पुकार के बीच गोताखोर भी आ गए और उन्होंने फौरन पानी में छलांग लगा दी. महिला पानी में ऊपर-नीचे उतरा रही थी. पानी के तेज बहाव में वो हिलोरे ले रही थी. एक एक सेकंड जान पर भारी पर रहा था. लेकिन समय पर गोताखोर पहुंच गए थे इसलिए सबके प्रयास से महिला को बचा लिया गया.

पति से हुई थी अनबन
घटना की सूचना मिलने के बाद मौके पर पहुंची भेड़ाघाट पुलिस ने जब महिला से पूछताछ की तो पता चला कि उसकी अपने पति से अनबन हुई है. हालांकि पुलिस के सामने इकबालिया बयान में उसने कहा कि गलती से पैर फिसल गया. पुलिस ने लंबी काउंसलिंग के बाद महिला को उसके परिवार के सुपुर्द कर दिया.



इस वॉटर फॉल में जो गिरता है वो बचता नहीं है…
45 वर्षीय इस महिला को गोताखोरों की मदद से बचा लिया गया. लेकिन 300 फीट से ज्यादा गहरे धुआंधार जलप्रपात में अमूमन जो भी गिरता है उसका बच पाना बेहद मुश्किल होता है. अब इसे महिला का भाग्य ही कहें कि उसे बचाने तीन गोताखोरों ने जान की बाजी लगा दी और उसे बचा लिया.

No comments:

Post a Comment