प्रधान आरक्षक विजय बघेल की हत्या में दो आरोपित सिवनी व तीन आरोपित चौरई के.... पढ़े पूरा घटना क्रम आरोपियों के बयान पुलिस की जुबानी। - revanchal times new

revanchal times new

निष्पक्ष एवं सत्य का प्रवर्तक

Breaking

रेवांचल टाइम्स अखबार पाठकों से अनुरोध करता है कि आप अपने सुझाव हम तक जरूर भेजें.. ताकि आने वाले समय मे हम आपकी मदद से और भी बेहतर कार्य कर सकें... साथ ही यदि आपको लेख अच्छा लगे तो इसे ओरों तक भी पहुंचाए.. प्रकाशन हेतु ख़बरें, विज्ञप्ति मोबाइल- 9406771592 पर व्हाट्सएप्प करें

 आवश्कता है  आवश्कता है ....

रेवांचल टाईम्स समाचार पत्र एव वेव पोर्टल में मध्यप्रदेश के सभी संभाग, जिला, तहसील, विकास खंडों, में संवाददाताओं की एंव विज्ञापनों व खबरों से सबंधित व्यक्ति संपर्क करें इन नम्बरों में 👉 9406771592/ 9425117297/ 8770297430/9165745947

Sunday, September 26, 2021

प्रधान आरक्षक विजय बघेल की हत्या में दो आरोपित सिवनी व तीन आरोपित चौरई के.... पढ़े पूरा घटना क्रम आरोपियों के बयान पुलिस की जुबानी।

 



रेवांचल टाईम्स–चौरई अनुभाग के चांद थाना में पदस्थ कार्यवाहक प्रधान आरक्षक विजय बघेल की हत्या के मामले में शुक्रवार को चौरई पुलिस ने 5 आरोपितों को गिरफ्तार कर लिया है। इसमें दो आरोपित सिवनी व तीन आरोपित चौरई थाना क्षेत्र के बताए गए हैं।


चौरई थाना प्रभारी शशि विश्वकर्मा ने बताया है कि पुलिस टीम ने मुखबिर तंत्र सक्रिय कर तकनीकी साक्ष्य व अन्य आवश्यक साक्ष्य संकलित किए। इस आधार संदेही आरोपितों को एक-एक करके अभिरक्षा में लिया गया। संदेहियों से सूक्ष्मता से पूछताछ करने पर जुर्म करना स्वीकार किया। मृतक विजय बघेल व मुख्य आरोपित नेमा मूल रूप से जिला सिवनी के निवासी व अच्छे से परिचित थे। करीब ढेड बर्ष पूर्व मुख्य आरोपी राहुल नेमा को ने मृतक विजय बघेल से रुपये उधार लिए थे।


कुर्सी में बैठाकर बातों में उलझाया, फिर कर दिया वार- मृतक विजय बघेल द्वारा आरोपित राहुल नेमा से बार-बार रुपये बापस मांगने व राहुल नेमा द्वारा रुपये वापस न करने के कारण इनके बीच विवाद हुआ था। इसी विवाद के कारण राहुल नेमा ने अन्य साथी मोनू ठाकुर, अतुल चौरसिया, सचिन शर्मा व दीपक उर्फ शानू कहार के साथ मिलकर मृतक विजय बघेल की हत्या करने की योजना बनाई। योजनानुसार राहुल नेमा ने स्वयं के चौरई स्थित षष्ठी कॉलोनी के ऑफिस में मृतक विजय बघेल को 21 सितंबर की दोपहर करीब 3 बजे बुलाया। मृतक विजय बघेल अकेले वर्दी में बाइक से ऑफिस पहुंचा। सभी आरोपितों ने योजनाबद्ध तरीके से पहले मृतक विजय बघेल को कुर्सी में बैठालकर बातचीत में लगाए रखा। इस दौरान आरोपित मोनू ठाकुर ने विजय बघेल को सिर में जोर से लोहे की रॉड से मारा। विजय के गिरने की स्थिति में आरोपित राहुल नेमा व अतुल चौरसिया ने भी लोहे की रॉड से गम्भीर चोट पहुंचाकर हत्या कर दिया।


साक्ष्य छुपाने अपनाए हथकंडे- चौरई पुलिस ने बताया है कि कानूनी कार्रवाई से बचने के लिए साक्ष्य छुपाने व गुमराह करने की नियत से आरोपित मोनू ठाकुर ने मृतक विजय बघेल की बाइक को उत्सव रिसोर्ट छिंदवाड़ा सिवनी हाइवे के किनारे खड़ी कर थोड़ी दूर पर उसका मोबाइल फेंक दिया। इसके अलावा आरोपित अतुल चौरसिया, सचिन शर्मा व दीपक कहार ने घटना स्थल में पड़े खून को पानी से धुलकर साफ कर दिया। किसी को जानकारी ना लग सके इसलिए घटना स्थल षष्ठी कॉलोनी स्थित ऑफिस चौरई से के शव को फ्लेक्स में लपेटकर मुख्य आरोपित राहुल नेमा की सफेद रंग की कार की डिक्की में रखकर मृतक घटना स्थल परिवर्तित करने के लिए सिवनी जिले के बम्हाेडी गावं क्षेत्र में बंद पड़ी डिस्लरी फैक्ट्री के सामने सुनसान बर्रा में जेसीबी मशीन से 5-6 फिट गहरा गड्डा खुदवाकर मृतक के शव को उसमें डालकर ऊपर से मुरम और मिट्टी से भर दिया। पुलिस को आरोपितों ने गुमराह करने के लिए अलग- अलग भ्रामक जानकारियां भी देने की कोशिश की। हालांकि सघन पूछताछ व विवेचना के दौरान पुलिस ने अंधी हत्या के मामले में सभी आरोपितों को सायबर सेल की मदद से कॉल डिटेल, फिंगर प्रिंट, डॉग स्कॉट आदि की मदद से गिरफ्तार कर लिया।

इस हत्याकांड को सुलझाने में चौरई एसडीओपी प्रीतम सिंह बालरे, थाना प्रभारी चौरई शशि विश्वकर्मा, थाना प्रभारी चांद दीपक डेहरिया, एसआई पूनम उईके, आरक्षक निखिल, राजेश, सूर्योदय, अभिषेक बघेल, दिलीप डेहरिया, दिनेश यादव, सतीश बघेल, आदित्य रघुवंशी की भूमिका रही है।


आरोपित ने मृतक प्रधान आरक्षक से उधार लिए गए 12 लाख रुपये नहीं चुका पाने के कारण हत्या करने की जानकारी पुलिस को दी है। पुलिस ने सभी आरोपितों को कोर्ट में पेश कर जेल भेज दिया है।


50 लाख की सहायता, परिवार के सदस्य को नौकरी देने की मांग – जैतपुरकला के सभा मंच पर विभिन्न् मांगों को लेकर आठ दिन से चल रहे आंदोलन में भारतीय किसान यूनियन (टिकैत) के संभागीय अध्यक्ष संतोष राय पहुंचे। गांव के निवासी चांद थाना में पदस्थ रहे विजय बघेल की हत्या गहरा दुख व्यक्त करते हुए पीड़ित परिवार को दुख सहन की शक्ति व दिवंगत आत्मा की शांति की ईश्वर से कामना की है। संयुक्त किसान मोर्चा ने विजय बघेल व दुर्घटना ग्रस्त ढाना निवासी महिला को सलामी दिलाई। आंदोलन की मांगों में उपस्थितजनों के हस्ताक्षर से हादसे की सीबाई जांच व परिवार जनों को त्वरित समुचित आर्थिक सहयोग 50 लाख स्र्पये व परिवार के एक सदस्य को स्थायी नौकरी की मांग की गई।


ये हुए गिरफ्तार- पुलिसकर्मी की हत्या के मामले में चौरई पुलिस ने राहुल पुत्र संतोष नेमा (33) साल निवासी एकता कालोनी सिवनी, मोनू पुत्र पेशिया ठाकुर (25) निवासी बारापत्थर सिवनी, अतुल पुत्र सतीश चौरसिया (23) साल निवासी झंडा मुहल्ला थाना चौरई जिला छिंदवाड़ा, सचिन पुत्र यशवंत शर्मा (26) निवासी गुरैया थाना चौरई जिला छिंदवाड़ा व दीपक उर्फ शानू पुत्र सुमेरी कहार (22) निवासी गुरैया थाना चौरई जिला छिंदवाड़ा को गिरफ्तार किया गया है। आरोपितों से घटना में उपयोग लाई गई एक सफेद रंग की आई 20 कार क्रमांक एमपी 22 सीए 6086, मृतक की बाइक काले रंग की होंडा साइन क्रमांक एमपी 28 एमआर 7050 व मोबाइल फोन, रक्त रंजित कपड़े व अन्य सामग्री जब्त की गई है।

No comments:

Post a Comment