महँगाई ने तोड़ी गरीब मध्यमवर्गीय लोगो की कमर बढे हर वस्तु के दाम, अच्छे दिनों से लोग हुए परेशान... - revanchal times new

revanchal times new

निष्पक्ष एवं सत्य का प्रवर्तक

Breaking

रेवांचल टाइम्स अखबार पाठकों से अनुरोध करता है कि आप अपने सुझाव हम तक जरूर भेजें.. ताकि आने वाले समय मे हम आपकी मदद से और भी बेहतर कार्य कर सकें... साथ ही यदि आपको लेख अच्छा लगे तो इसे ओरों तक भी पहुंचाए.. प्रकाशन हेतु ख़बरें, विज्ञप्ति मोबाइल- 9406771592 पर व्हाट्सएप्प करें

 आवश्कता है  आवश्कता है ....

रेवांचल टाईम्स समाचार पत्र एव वेव पोर्टल में मध्यप्रदेश के सभी संभाग, जिला, तहसील, विकास खंडों, में संवाददाताओं की एंव विज्ञापनों व खबरों से सबंधित व्यक्ति संपर्क करें इन नम्बरों में 👉 9406771592/ 9425117297/ 8770297430/9165745947

Sunday, August 1, 2021

महँगाई ने तोड़ी गरीब मध्यमवर्गीय लोगो की कमर बढे हर वस्तु के दाम, अच्छे दिनों से लोग हुए परेशान...


रेवांचल टाईम्स - ईन दिनों आसमान छू रही महँगाई से लोगो का जीना दूभर हो चुका है जीवन यापन करने के लिये आवश्यक वस्तुओं के साथ साथ फलो के दाम से आमजन परेशान सावन के पवित्र मास की शुरुआत के साथ बढ़ गए फलों के दाम                      

         सरकार ने दिखाया अच्छे दिन का सपना पर हाय री महँगाई दिन व दिन तेजी से हो रही पेट्रोल-डीजल की कीमतों में रिकॉर्ड बढ़ोतरी की वजह से सब कुछ महंगा हो गया है। इसका असर फलों के बाजार पर भी देखने को मिल रहा है। देश के कई इलाकों में डीजल 100 के पार तो पेट्रोल 111 रुपए से अधिक कीमत पर बिक रहा है। चूंकि जिले में सभी तरह के फल बाहर की फल मंडियों से ही बुलवाए जाते हैं। पेट्रोलियम पदार्थों के दाम बढऩे के कारण माल भाड़ा बढ़ा है और इस कारण फलों की कीमतों में जबर्दस्त इजाफा हुआ है। व्रतों और उपवासों का मास सावन शुरू होने के कारण बाजार में फलों की मांग बढ़ गई है लेकिन बारिश के कारण कई तरह के फलों की आवक कम हो चुकी है। यही कारण है कि कुछ ही दिनों के अंतराल में फलों की कीमतों में भी जबर्दस्त बढ़ोत्तरी हो चुकी है।

इनके दाम आसमान पर

कुुछ दिनों से पूरे प्रदेश के साथ आसपास के उन प्रदेशों में भी तेज बारिश का दौर शुरू हो चुका है जहां से फल जिले की मंडियों में आते हैं। बारिश होने के कारण वहां से फलों की आवक कम हो गई है। इनमें प्रमुख है आम फल, आम की आवक भी अब धीरे-धीरे कम होने लगी है इसलिए कीमत में बढोत्तरी हो चुकी है। आशंका जताई जा रही है कि अगर बारिश लगातार होती रही तो कीमतें और बढ़ सकती हैं।

आम जनता की पसंदीदा फलों में सेब का सबसे अधिक महत्व है और सभी तरह के पूजन अनुष्ठान में सेव फल को प्रमुखता से शामिल किया जाता है। सेब के दामों में चार गुना बढ़ोत्तरी हो चुकी है जिसके चलते अब अधिकतर लोगों ने इससे खरीदने से परहेज करना शुरू कर दिया है। फल व्यापारी मोनू ठाकुर, मनीष सोनी का कहना है कि दशहरी आम जो कुछ दिनों पहले तक 80 रुपए से 120 के भाव से बिक रहा था वही अब 35 रुपए से 50 रुपए पाव यानि 150-200 रुपए किलो के भाव फुटकर बाजार में बिक रहा है। सेब के दाम भी आसमान को छू रहे हैं। फिलहाल बाजार में सबसे महंगा सेब कश्मीरी सेब है जो 60-80 रुपए पाव यानि 240-320 रुपए प्रति किलो के भाव से बिक रहा है।             


नैनपुर से राजा विश्वकर्मा की रिपोर्ट

No comments:

Post a Comment