शिवपुरी में बारिश बनी मुसीबत, 35 घंटे से पानी में फंसा परिवार - revanchal times new

revanchal times new

निष्पक्ष एवं सत्य का प्रवर्तक

Breaking

रेवांचल टाइम्स अखबार पाठकों से अनुरोध करता है कि आप अपने सुझाव हम तक जरूर भेजें.. ताकि आने वाले समय मे हम आपकी मदद से और भी बेहतर कार्य कर सकें... साथ ही यदि आपको लेख अच्छा लगे तो इसे ओरों तक भी पहुंचाए.. प्रकाशन हेतु ख़बरें, विज्ञप्ति मोबाइल- 9406771592 पर व्हाट्सएप्प करें

 आवश्कता है  आवश्कता है ....

रेवांचल टाईम्स समाचार पत्र एव वेव पोर्टल में मध्यप्रदेश के सभी संभाग, जिला, तहसील, विकास खंडों, में संवाददाताओं की एंव विज्ञापनों व खबरों से सबंधित व्यक्ति संपर्क करें इन नम्बरों में 👉 9406771592/ 9425117297/ 8770297430/9165745947

Thursday, August 5, 2021

शिवपुरी में बारिश बनी मुसीबत, 35 घंटे से पानी में फंसा परिवार



शिवपुरी। शिवपुरी (Shivpuri District) जिले में लगातार वर्षा की स्थिति रही जिससे जिले में डूब क्षेत्र (submerged area) के कई गांव में बाढ़ की स्थिति निर्मित हो गई। पोहरी के गांव के अलावा नरवर और करेरा में भी बाढ़ की स्थिति बनी और कई लोग जलभराव में फस गए। जिला प्रशासन और एसडीआरएफ (SDRF) की टीम ने सक्रिय होकर लगातार रेस्क्यू अभियान चलाया और लोगों को बाढ़ से निकाल कर सुरक्षित स्थान पर पहुंचाया। दिन भर राहत एवं बचाव कार्य चलता रहा और सैकड़ों ग्रामीणों को सुरक्षित स्थान पर पहुंचाया गया।


लोगो को सुरक्षित स्थान पर पहुंचाया गया
वहीं शिवपुरी 35 घंटे से बचाने के लिए सिख परिवार गुहार लगा रहा है। कई बच्चों सहित 15 लोगों की जान मुश्किल में है। शिवपुरी जिले में नरवर के पास चिताहरी गांव में जगजीत सिंह का परिवार सोमवार रात से फंसा है। सिंध नदी के तेज बहाव में मकान कभी भी ढह सकता है, हालांकि प्रशासन द्वारा लोगों को सुरक्षित स्‍थानों पर लगातार पहुंचाया जा रहा है।

जबकि नरवर के नवोदय विद्यालय में जलभराव होने से 25 से अधिक लोग फंस गए थे। वहाँ पहुंचकर तत्काल टीम ने रेस्क्यू कर लोगों को सुरक्षित निकाला। नरवर में 100 से अधिक लोगों को सुरक्षित स्थान पर पहुंचाया। एसडीआरएफ की टीम द्वारा नाव के माध्यम से और स्थानीय ग्रामीणों की मदद से लोगों को सुरक्षित निकाला गया। इसके अलावा कुछ जगह गंभीर स्थिति बनी जहां एनडीआरएफ की टीम और हेलीकॉप्टर की मदद ली गई। बैराड़, करैरा और नरवर के कई गांव में हेलीकॉप्टर की मदद से लोगों को निकाला गया। बिची गांव ने पेड़ पर फसे 3 आदिवासी युवकों को सुरक्षित निकाला गया।
पोहरी बैराड़ क्षेत्र के गांव हर्रई, बरखेड़ी, सिलपरी, रायपुर, कुकरेडा, अकुर्शी के अलावा करैरा नरवर क्षेत्र में सिहोरा, सिलारपुर, पनघटा, कोलारस में पचावली, पिपरौदा, घुरवार गांव, शिवपुरी में बिची, डोंगर, ख़यावदाकला सहित कई ग्राम प्रभावित हुए हैं। जहां प्रशासन और एसडीआरएफ और एनडीआरएफ टीम ने रेस्क्यू अभियान चलाया और लोगों को सुरक्षित निकाला।
संभागायुक्त श्री आशीष सक्सेना, कलेक्टर श्री अक्षय कुमार सिंह और पुलिस अधीक्षक ने लगातार स्थिति की निगरानी की। क्षेत्र में भी जायज़ा लिया। जहां कहीं समस्या थी तत्काल टीम को भेजा ताकि लोगों को सुरक्षित स्थान पर पहुंचाया जा सके।
प्रशासन ग्रामीणों के रेस्क्यू में जुटा हुआ है. वहीं भोपाल में भी जलस्तर बढ़ने से आसपास के गांवों में अलर्ट जारी कर दिया गया.

चंबल नदी खतरे के निशान से 6 मीटर ऊपर
चंबल नदी खतरे के निशान से 6 मीटर ऊपर चल रही है। चंबल नदी में खतरे का निशान 138 मीटर पर है, जबकि चंबल नदी दोपहर 12 बजे तक 144 मीटर पर बह रही है। चंबल से कई गांव घिर गये हैं। जिला प्रशासन रेस्क्यू दल द्वारा चंबल से घिरे लोगों को बाहर निकालकर सुरक्षित स्थानों पर भेजा जा रहा है।

No comments:

Post a Comment