बैंक का असिस्टेंट मैनेजर ही निकला चोरों का सरदार ........पढ़े पूरी खबर - revanchal times new

revanchal times new

निष्पक्ष एवं सत्य का प्रवर्तक

Breaking

रेवांचल टाइम्स अखबार पाठकों से अनुरोध करता है कि आप अपने सुझाव हम तक जरूर भेजें.. ताकि आने वाले समय मे हम आपकी मदद से और भी बेहतर कार्य कर सकें... साथ ही यदि आपको लेख अच्छा लगे तो इसे ओरों तक भी पहुंचाए.. प्रकाशन हेतु ख़बरें, विज्ञप्ति मोबाइल- 9406771592 पर व्हाट्सएप्प करें

 आवश्कता है  आवश्कता है ....

रेवांचल टाईम्स समाचार पत्र एव वेव पोर्टल में मध्यप्रदेश के सभी संभाग, जिला, तहसील, विकास खंडों, में संवाददाताओं की एंव विज्ञापनों व खबरों से सबंधित व्यक्ति संपर्क करें इन नम्बरों में 👉 9406771592/ 9425117297/ 8770297430/9165745947

Friday, July 9, 2021

बैंक का असिस्टेंट मैनेजर ही निकला चोरों का सरदार ........पढ़े पूरी खबर



बलोदाबाजारः बलोदाबाजार जिले के भाटापारा से एक बेहद हैरान करने वाला मामला सामने आया है. जहां एक बैंक का स्पेशल अस्सिटेंट मैनेजर शहर में चोरी करवाता था. खास बात यह है कि मैनेजर इस काम में दूसरे प्रदेश के लोगों की मदद लेता था.

यह पूरा मामला
भाटापारा मे 2 माह पहले वीआईपी कालोनी सहित अन्य कई स्थानों पर लगातार चोरी के मामले थाने मे दर्ज हो रहे थे, लगभग 6 स्थानों पर कुछ ही दिनों में 5 से 6 लाख रुपए की चोरी के मामले दर्ज हुए. जिसमें पुलिस ने 2 आरोपियों को पहले गिरफ्तार किया था, जबकि 2 आरोपी फरार थे. पुलिस इस मामले में छानबीन कर ही रही थी कि एक अहम जानकारी पुलिस के हाथ लगी. पता चला कि जीजा साले और भांजे ने मिलकर भाटापारा में इन चोरियों को अंजाम दे रहे थे. जिसमें जीजा अनिल प्रताप सिंह जो वर्तमान मे भाटापारा के बड़ौदा बैंक के अतर्गत शाखा देना बैंक में स्पेशल अस्स्टिेंट मैनेजर के पद पर कार्यरत है. जैसे ही पुलिस को इस बात की जानकारी लगी पुलिस ने उसे गिरफ्तार कर लिया.




मैनेजर को गिरफ्तार करने के बाद जब उससे पूछताछ की गई तो उसने बताया कि वह उत्तर प्रदेश से लड़के बुलवाकर चोरी करवाता था. जिसके बाद पुलिस ने मामले में फरार आरोपियों को उत्तर प्रदेश के हमीरपुर और महोबा जिला से गिरफ्तार किया गया. जिनके पास से पुलिस को सोने-चांदी के जेवरात, बाइक, देशी कट्टा जिंदा कारतूस सहित सवा लाख रुपए भी मिले हैं.

मैनेजर बनाता था चोरी का प्लान
पकड़े गए आरोपियों ने मामले का खुलासा करते हुए बताया कि चोरियों का मास्टर मांइड बैंक का अस्स्टिेंट मैनेजर अनिल प्रताप सिंह ही है. वहीं चोरियों का प्लान बनाता था. अनिल प्रताप सिंह पढ़ाई कराने के नाम पर अपने साले और भांजे को अपने साथ रखते थे. जहां तीनों चोरी का प्लान बनाकर उसे रात के अंधेरे मे अंजाम देते थे. जबकि मदद के लिए दूसरे लोगों को उत्तर प्रदेश से बुलाते थे.

पुलिस ने सीसीटीवी की मदद से चोरों को पकड़ने मे सफलता पाई है. इस मामले मे लगभग 4 आरोपियों की गिरफ्तारी हो चुकी है. फिलहाल पुलिस आरोपियों से पूछताछ में जुटी है. माना जा रहा है कि मामले में जल्द और कई चोरियों के खुलासे हो सकते हैं.

No comments:

Post a Comment