अतिक्रमण की आग से झुलस रहा नैनपुर नगर,अतिक्रमण कारी बेधड़क कर रहे सरकारी भूमियों में कब्ज़ा - revanchal times new

revanchal times new

निष्पक्ष एवं सत्य का प्रवर्तक

Breaking

रेवांचल टाइम्स अखबार पाठकों से अनुरोध करता है कि आप अपने सुझाव हम तक जरूर भेजें.. ताकि आने वाले समय मे हम आपकी मदद से और भी बेहतर कार्य कर सकें... साथ ही यदि आपको लेख अच्छा लगे तो इसे ओरों तक भी पहुंचाए.. प्रकाशन हेतु ख़बरें, विज्ञप्ति मोबाइल- 9406771592 पर व्हाट्सएप्प करें

 आवश्कता है  आवश्कता है ....

रेवांचल टाईम्स समाचार पत्र एव वेव पोर्टल में मध्यप्रदेश के सभी संभाग, जिला, तहसील, विकास खंडों, में संवाददाताओं की एंव विज्ञापनों व खबरों से सबंधित व्यक्ति संपर्क करें इन नम्बरों में 👉 9406771592/ 9425117297/ 8770297430/9165745947

Friday, July 2, 2021

अतिक्रमण की आग से झुलस रहा नैनपुर नगर,अतिक्रमण कारी बेधड़क कर रहे सरकारी भूमियों में कब्ज़ा

 



रेवांचल टाइम्स :- नैनपुर में सरकारी जमीनों पर अतिक्रमण करने वालों के हौंसले किस कदर बुलंद है, इसका अंदाजा इस बात से लगाया जा सकता है कि नगर पालिका नैनपुर में चाहे वह बांसुरी वादन चौक से लेकर राधा कृष्ण मंदिर तक 60 फिट का रास्ता हो जहां व्यापारियों द्वारा दुकान के सामान रखकर अतिक्रमण किया जा रहा है, वार्ड नंबर 14 की सरकारी भूमि जिस पर नगर के रसूखदार एवं सत्ताधारी पार्टी के लोगों ने अवैध कब्जा जमाया हो या फिर नैनपुर के समीप ग्राम पंचायत निवारी में बिना किसी परमिशन के सरकारी भूमि पर फैंग्सिन लगाया गया हो, कुल मिलाकर नैनपुर प्रशासन की लापरवाही या फिर यह कहा जाए कि मौन सहमति के चलते नगर की सरकारी भूमियों पर ही अतिक्रमणकारियों ने बेधड़क कब्जा कर लिया है। 

ताजा ताजा अतिक्रमण की बात करें तो कुछ ही दिन पहले ग्राम पंचायत निवारी में मजा़र के अगल-बगल फैंग्सिन तार की सहायता से सरकारी भूमि पर कब्जा कर लिया गया है। यह जमीन वैसे तो नहर विभाग के अंतर्गत आती है। लेकिन नहर विभाग अपनी सफाई में कहता है कि हमारी जमीन पर किसी प्रकार का भी कब्जा नहीं किया गया है।

बल्कि वहां किसी अन्य के द्वारा अतिक्रमण ना किया जाए इस वजह से फैंग्सिन तार लगाकर अतिक्रमण कारियों से सरकारी भूमि को बचाए जाने का कार्य किया जा रहा है।


जबकि यह फैंग्सिन जिसने लगाई है वह महोदय वहां प्लाटिंग का कार्य कर रहे हैं एवं करोड़ों रुपए की लालच में जमीन लेने वालों को नेशनल हाईवे से लगी हुई जमीन का लालच देकर ऊंचे दामों में बेचकर अधिक मुनाफा कमाने के चलते सरकारी भूमि पर कब्जा कर लिया है। 

जहां फैंग्सिन की गई है वहां कुछ ही दूरी से किसान भाइयों के लिए पानी उपलब्ध कराने के लिए नहर बनाई गई है। जिसकी वजह से नियमानुसार नहर विभाग की जमीन भी वहां नेशनल हाईवे एवं नहर से लगी हुई है। 

नगर के कुछ जागरूक पत्रकार द्वारा जब नहर विभाग से जानकारी मांगी गई की यहां किसी व्यक्ति के द्वारा फैंग्सिन लगाकर सरकारी भूमि पर कब्जा किया जा रहा है जो कि नहर विभाग के अंतर्गत आती है। जिसके जवाब में उन्होंने कहा कि हमारी जमीन में किसी भी प्रकार का कोई कब्जा नहीं है। बल्कि यह जमीन पीडब्ल्यूडी विभाग में आती है।


लेकिन जब पीडब्ल्यूडी विभाग से जवाब तलब किया गया तो उन्होंने सूचना देते हुए कहा कि यह जमीन पहले हमारे विभाग के अंतर्गत आती थी लेकिन अब इसे एन.एच.ए.आई ने अपने अंतर्गत ले लिया है। पीडब्ल्यूडी ने अपने जवाब में संकेत देते हुए कहा कि कहीं ना कहीं हो सकता है कि सरकारी भूमि में कबजा किया गया हो।


नैनपुर नगर में लगातार सरकारी भूमि में बेखौफ नगर के रसूखदार एवं वजनदार लोगों द्वारा कब्जे किए जा रहे हैं। लेकिन प्रशासन द्वारा किसी प्रकार की कड़ी कार्रवाई इनके खिलाफ नहीं की जाती।

जिसकी वजह से इनके हौसले इतने बुलंद हैं कि, इन्होंने सरकारी भूमि को अपनी बपौती समझ ली है और बेधड़क सरकारी भूमियों में कब्जा कर रहे हैं।

अतिक्रमण की आंच से झुलस रहे  नैनपुर में अतिक्रमणकारियों ने सरकारी भूमियों पर जहां देखो वहां अपना पैर पसार लिया है। इन अतिक्रमण कारियों के सामने राजस्व तथा नगर परिषद का अमला मौनी बाबा की भूमिका में नजर आ रहा है। सबसे आश्चर्य की बात तो यह है कि सरकारी भूमि पर कब्जे की जानकारी होने के बावजूद भी अतिक्रमणकारियों पर प्रशासनिक चाबुक नहीं चलता जो कि प्रशासन की अतिक्रमणकारियों के प्रति मौन सहमति को दर्शाता है। 

एसडीएम, तहसीलदार और सीएमओ को भी शहर में व्याप्त अतिक्रमण नजर नहीं आ रहा है। 


कई सार्वजनिक भूमियों के साथ ही नैनपुर नगर के दूसरे सबसे व्यस्ततम मार्ग पर प्रभावशालियों ने कब्जा कर रखा है। अतिक्रमण के चलते सड़कें सिकुड़ती जा रही हैं। सड़कों के किनारे कब्जा होने से आवागमन में राहगीरों को काफी अधिक दिक्कतों का सामना करना पड़ रहा है। 

वहीं प्रशासन के मौन ने अतिक्रमणकारियों के हौसले बुलंद कर दिए हैं। नगर के दूसरे सबसे व्यस्ततम मार्ग बांसुरी वादन चौक से लेकर राधा कृष्ण मंदिर तक सड़क की हालत किसी से छिपी नही है। इस सड़क पर वाहनों के खड़े करने के साथ ही यहां व्यापारियों द्वारा अपनी दुकान का सामान भी रखा जाता है, जिससे सड़कें गलियों में तब्दील हो रही हैं। वर्तमान में सम्पूर्ण शहर के प्रमुख मार्ग में अतिक्रमण बना हुआ है। इस कारण आवागमन प्रभावित रहता है। 


सरकारी विभागों की भूमियों पर भी अतिक्रमणकारी कई सालों से कब्जा जमाएं बैठे हैं। यहां तक की बांसुरी वादन चौक से लेकर राधा कृष्ण मंदिर के बीच जितनी सरकारी भूमि है वहां भूमाफियाओं ने सरकारी जमीनों पर कालोनियों एवं कंपलेक्स का निर्माण तक कर लिया है जिसके कोई वैध दस्तावेज अतिक्रमणकारियों के पास नहीं है एवं निरंतर सरकारी भूमि पर निर्माण कार्य धड़ल्ले से कर रहे हैं मानों जैसे इन्हें प्रशासन की मौन सहमति प्राप्त हो।


नैनपुर रेवांचल टाइम्स से शालू अली की रिपोर्ट

No comments:

Post a Comment