शासकीय भूमि से बेख़ौफ़ निकाली जा रही मुरम जानकार जानकर भी है अनजान... - revanchal times new

revanchal times new

निष्पक्ष एवं सत्य का प्रवर्तक

Breaking

रेवांचल टाइम्स अखबार पाठकों से अनुरोध करता है कि आप अपने सुझाव हम तक जरूर भेजें.. ताकि आने वाले समय मे हम आपकी मदद से और भी बेहतर कार्य कर सकें... साथ ही यदि आपको लेख अच्छा लगे तो इसे ओरों तक भी पहुंचाए.. प्रकाशन हेतु ख़बरें, विज्ञप्ति मोबाइल- 9406771592 पर व्हाट्सएप्प करें

 आवश्कता है  आवश्कता है ....

रेवांचल टाईम्स समाचार पत्र एव वेव पोर्टल में मध्यप्रदेश के सभी संभाग, जिला, तहसील, विकास खंडों, में संवाददाताओं की एंव विज्ञापनों व खबरों से सबंधित व्यक्ति संपर्क करें इन नम्बरों में 👉 9406771592/ 9425117297/ 8770297430/9165745947

Wednesday, June 16, 2021

शासकीय भूमि से बेख़ौफ़ निकाली जा रही मुरम जानकार जानकर भी है अनजान...



रेवांचल टाईम्स :- जिले में मनमाने तरीके से शासकीय भूमि में अबैध उत्तखन्न चल रहा है ग्राम टिकरिया नारायणगंज रोड पर अवैध कॉलोनी निर्माण मैं अवैध तरीके से खनन करवा कर अपने मकानों की पुराई की जाती है ना यहां पर कोई मोरम खदान यीशु है नाही कोई परमिशन नहीं है इसके बाद भी मकान मालिकों द्वारा अपने मकानों में मुरम मिट्टी अवैध तरीके से रातों-रात ग

ट्रैक्टर एवं डफर और जेसीबी मशीन के द्वारा द्वारा रातो रात अवैध खनन किया जाता है जिस रोड पर मुरम मिट्टी डाली जा रही है वह नारायणगंज टिकरिया रोड के किनारे डाली जाती है और दिन रात ट्रैक्टर डफर अवैध तरीके से चलते हैं जिसमें पूरी रोडो पर आड़ा तिरछा करके गाड़ियां लगाते हैं इस तरीके से गाड़ियों को रोड मैं आड़ा तिरछा करते हैं जिसमें राहगीरों को आने जाने में अपनी जान जोखिम में डालनी पढ़ रही है क्योंकि इतनी स्पीड से गाड़ियां आती हैं और मुरम मिट्टी डालती हैं जिसमें नारायणगंज से टिकरिया आने जाने वाले राहगीरों को बड़ी दिक्कतों का सामना करना पड़ता है अगर इसी तरह से मकान मालिकों द्वारा अपने मकानों में अवैध तरीके से मोरम मिट्टी डलवाई जाती है तो कभी भी कोई बड़ी घटना हो सकती है इसका जिम्मेदार कौन रहेगा क्या मकान मालिक जो अपने निर्माण कार्य के लिए मोरम मिट्टी डलवा ते हैं अगर कोई घटना घटती है तो इसका जिम्मेदार क्या मकान मालिक रहेंगे हम शासन प्रशासन से निवेदन करते हैं कि ऐसे अवैध तरीके से खनन करवाने वाले मकान मालिकों के उपर सख्त कार्रवाई की जाए इसका जीता जागता उदाहरण इस फोटो पर साफ दिखाई दे रहा अगर कोई पत्रकार वहां पर कवरेज करता है तो उनको भी धमकियां दी जाती है और बोला जाता है कि आपको जो लगे वो करो हम तो अपना काम करके ही रहेंगे इस प्रकार की धमकियां मकान मालिकों के द्वारा दी जाती है इस प्रकार से अगर ऐसा काम चलेगा तो पत्रकार अपना निष्पक्ष कार कैसे कर सकेंगे


बेनी लाल सिंगरौरे की रिपोर्ट नारायणगंज से

No comments:

Post a Comment