भारत में डेल्टा प्लस वेरिएंट तेजी से पसार रहा पैर, 3 राज्यों मे मिले 25 केस - revanchal times new

revanchal times new

निष्पक्ष एवं सत्य का प्रवर्तक

Breaking

रेवांचल टाइम्स अखबार पाठकों से अनुरोध करता है कि आप अपने सुझाव हम तक जरूर भेजें.. ताकि आने वाले समय मे हम आपकी मदद से और भी बेहतर कार्य कर सकें... साथ ही यदि आपको लेख अच्छा लगे तो इसे ओरों तक भी पहुंचाए.. प्रकाशन हेतु ख़बरें, विज्ञप्ति मोबाइल- 9406771592 पर व्हाट्सएप्प करें

 आवश्कता है  आवश्कता है ....

रेवांचल टाईम्स समाचार पत्र एव वेव पोर्टल में मध्यप्रदेश के सभी संभाग, जिला, तहसील, विकास खंडों, में संवाददाताओं की एंव विज्ञापनों व खबरों से सबंधित व्यक्ति संपर्क करें इन नम्बरों में 👉 9406771592/ 9425117297/ 8770297430/9165745947

Tuesday, June 22, 2021

भारत में डेल्टा प्लस वेरिएंट तेजी से पसार रहा पैर, 3 राज्यों मे मिले 25 केस



भारत में कोरोना वायरस की दूसरी लहर अब कम हो गयी है। वहीं देश में कोरोना वायरस के नए डेल्टा प्लस वेरिएंट के मामले भी पाए जा रहे हैं। मीडिया रिपोर्ट के अनुसार, महाराष्ट्र के स्वास्थ्य मंत्री राजेश टोपे ने कहा है कि राज्य में डेल्टा प्लस के 21 मामले सामने आए हैं। इनमें 9 जलगांव, 7 मुंबई से और एक-एक सिंधुदुर्ग, ठाणे और पालगढ़ जिलों में आये हैं। इसके अलावा उन्होंने कहा कि महाराष्ट्र की उद्धव ठाकरे सरकार ने जीनोम सिक्वेंसिंग का निर्णय लिया है और हर जिले से 100 नमूने लेने की प्रक्रिया शुरू कर दी है। जानकरी के अनुसाय, सीएसआईआर और आईजीआईबी सैंपलिंग के नेतृत्व में सैंपलिंग हो रहा है। राजेश टोपे ने बताया कि 15 मई से अब तक 7 हजार 500 नमूने लिए गए हैं जिनमें डेल्टा प्लस के 21 मामले पाए गए हैं।

अधिकारियों के मुताबिक, केरल के पलक्कड़ और पथनमथिट्टा जिले से लिए गए नमूनों में सार्स-सीओवी-2 डेल्टा-प्लस के 3 केस सामने आए हैं। पथनमथिट्टा के डीएम डॉ. नरसिम्हुगरी टी एल रेड्डी का कहना है कि जिले के काडापरा पंचायत का एक 4 साल का बच्चा वायरस के नए डेल्टा-प्लस वेरिएंट से संक्रमित पाया गया है। नए वेरिएंट का पता लड़के के नमूनों के सीएसआईआर और आईजीआईबी में किए गए जीनोम सिक्वेंसिंग से चला। अधिकारियों ने कहा कि प्रशासन ने इसके प्रसार को रोकने के लिए दो जिलों के प्रभावित क्षेत्रों में कड़े कदम उठाए हैं। प्रशासन के द्वारा इसके प्रसार को रोकने के लिए सभी जरूरी कदम उठाए जा रहे हैं।

भारत में डेल्टा प्लस वैरिएंट का पहला मामला भोपाल से सामने आया था। इस नए वेरिएंट की पुष्टि एक 65 साल की बुजुर्ग महिला में हुई थी। महिला होम आइसोलेशन में ही कोरोना वायरस से ठीक हो गई थी और उन्हें टीके की दो खुराक भी दी गई थी। उनके सैंपल्स 23 मई को लिए गए थे और 16 जून को एनसीडीसी की रिपोर्ट में कहा गया था कि वह कोरोना वायरस के नए वेरिएंट डेल्टा प्लस से संक्रमित थीं। कुल मिलाकर महाराष्ट्र, केरल और मध्यप्रदेश में अबतक 25 मामले सामने आ चुके हैं। जोकि बेहद चिंता की बात है।

No comments:

Post a Comment