क्षेत्र में हुई ओलावृष्टि से साग-सब्जी, मूंग, तरबूज की फसल बर्बाद - revanchal times new

revanchal times new

निष्पक्ष एवं सत्य का प्रवर्तक

Breaking

रेवांचल टाइम्स अखबार पाठकों से अनुरोध करता है कि आप अपने सुझाव हम तक जरूर भेजें.. ताकि आने वाले समय मे हम आपकी मदद से और भी बेहतर कार्य कर सकें... साथ ही यदि आपको लेख अच्छा लगे तो इसे ओरों तक भी पहुंचाए.. प्रकाशन हेतु ख़बरें, विज्ञप्ति मोबाइल- 9406771592 पर व्हाट्सएप्प करें

 आवश्कता है  आवश्कता है ....

रेवांचल टाईम्स समाचार पत्र एव वेव पोर्टल में मध्यप्रदेश के सभी संभाग, जिला, तहसील, विकास खंडों, में संवाददाताओं की एंव विज्ञापनों व खबरों से सबंधित व्यक्ति संपर्क करें इन नम्बरों में 👉 9406771592/ 9425117297/ 8770297430/9165745947

Monday, May 3, 2021

क्षेत्र में हुई ओलावृष्टि से साग-सब्जी, मूंग, तरबूज की फसल बर्बाद



रेवांचल-मौसम में आए बदलाव के चलते गर्मी के मौसम में मई माह में जिले भर में बीते 2 दिन से हल्की फुल्की बारिश हो रही है। रविवार को जहां दिन में और शाम को बारिश हुई थी वहीं सोमवार को जिले के अनेक ग्राम क्षेत्रों व शहरी इलाकों में बारिश हुई वही हथनापुर, मडवा, ढाना, कन्हरगांव, जाम किशनपुर आदि ग्राम क्षेत्रों में कहीं चना तो कहीं आंवले के आकार के ओले गिरे। ओलावृष्टि से इन ग्राम क्षेत्रों के खेतों में लगी साग-सब्जी मूंग, धनिया, ककड़ी, कद्दू, ढींगरा, तरबूज आदि की फसल ओलावृष्टि से बर्बाद हो गई। किसानों का काफी नुकसान हुआ।


हथनापुर निवासी श्रेयांश दुबे, अस्सु दुबे ने बताया कि खेतों में लगाई गई धनिया व मूंग फसल बर्बाद हो गई। वहीं अजय मिश्रा, सीताराम पांडे, चंद्रकुमारी तिवारी ने बताया कि खेत में मूंग की फसल लगाई गई थी व साग-सब्जी की फसल लगाई गई थी जो ओलावृष्टि की भेंट चढ़ गई। क्षेत्र के किसानों में विनोद सनोडिया, नरेंद्र सनोडिया, बिरदी सनोडिया, जीत सिंह सनोडिया, बिंदास सनोडिया, हेमराज सनोडिया आदि ने बताया कि बेमौसम हुई बारिश के साथ रविवार को दोपहर लगभग 2:30 बजे ओलावृष्टि हुई। लगभग 15 मिनट हुए ओलावृष्टि से खेतों में लगी साग-सब्जी, मूंग, फल आदि को काफी नुकसान हुआ। वही किसानों ने बताया कि पटवारी बट्टी को फोन लगाकर क्षतिग्रस्त हुई फसलों के विषय में बताने का लगातार प्रयास किया जा रहा है। लेकिन पटवारी को अभी तक फोन नहीं लगा। किसानों ने कलेक्टर से मांग की है कि शीघ्र ही क्षतिग्रस्त फसलों का सर्वे कार्य करा कर उचित मुआवजा दिया जाए।


रेवांचल टाईम्स से विनोद दुबे की रिपोर्ट

No comments:

Post a Comment