नगर में बढ़ रही पार्किंग की मांग अतिक्रमण की चपेट में बाजार के मुख्य मार्ग, फिर भी प्रशासन की अनदेखी बरकरार... - revanchal times new

revanchal times new

निष्पक्ष एवं सत्य का प्रवर्तक

Breaking

रेवांचल टाइम्स अखबार पाठकों से अनुरोध करता है कि आप अपने सुझाव हम तक जरूर भेजें.. ताकि आने वाले समय मे हम आपकी मदद से और भी बेहतर कार्य कर सकें... साथ ही यदि आपको लेख अच्छा लगे तो इसे ओरों तक भी पहुंचाए.. प्रकाशन हेतु ख़बरें, विज्ञप्ति मोबाइल- 9406771592 पर व्हाट्सएप्प करें

Tuesday, April 6, 2021

नगर में बढ़ रही पार्किंग की मांग अतिक्रमण की चपेट में बाजार के मुख्य मार्ग, फिर भी प्रशासन की अनदेखी बरकरार...

रेवांचल टाईम्स :- नगर की बस्ती में स्थित बाजार सालों से अतिक्रमण की चपेट में है। इस अतिक्रमण के कारण जहां वाहन चलाना तो दूर पैदल चलन तक मुश्किल है। यहां पर सुबह से शाम तक जाम की स्थिति बनती रहती है और लोग घंटों जाम में फंसकर परेशान होते रहते हैं। बाजार में  आजतलक वाहनों की पार्किंग की जगह निर्धारित नही  की गई है, वहीं सड़क पर व्यापारियों के द्वारा सब्जियां और फल बेचने वालों ने दुकानें लगा रखी हैं।




सब्जी की दुकानें, फल विक्रेता, हाथ ठेले सहित कई दुकानें रास्ते पर लगने के कारण बाजार के बड़े-बड़े रास्ते गलियों में सिमट कर रह जाते हैं। इससे नगर के मुख्य बाजार मे पसरे अतिक्रमण के कारण लोगों का सड़काें पर चलना भी दूभर हो गया है। दुकानदारों ने सड़कों पर अतिक्रमण कर दुकानेंं लगा ली है। इनकी दुकानों का आधा सामान दुकान में और उससे ज्यादा सामान सड़कों पर होता है। इस कारण वहां से निकलने वाले वाहनो को काफी परेशानी का सामना करना पड़ता है। वहीं सड़कें भी सकरी होती जा रही है।


संकरे हुए नगर के मार्ग


नगर के बीचोंबीच सब्जी बाजार एवं सब्जी मंडी संचालित हो रही है। सब्जी बाजार की दुकानें व्यवस्थित ढंग से नहीं लग रही है। वहीं फुटकर व्यापारी हाथ ठेला भी अपनी मनमर्जी से सड़कों पर ही खड़ा करके अपना धंधा करते है। बाजार चौराहे से लेकर मुख्य एवं बाजार के अंदर तक का मार्ग इन दुकानदारों और हाथ ठेलों द्वारा अतिक्रमण कर लिया जाता है। जिससे नगरवासियों, महिलाओं, स्कूली बच्चों और बुजुर्गों को इन रास्तों से गुजरने में परेशानियों का सामना करना पड़ता है।


अभियान चलाकर किया गया था समझाइस का काम


बाजार क्षेत्र में पीली लाइन डालकर व्यापारियों की सीमा निर्धारित की गयी थी यह काम अभियान चलाकर किया गया था जिससे कि सड़क पर अतिक्रमण की स्थितियां न बने और लोगों को आने-जाने में परेशानी का सामना न करना पड़े लेकिन लाइन डालने के बावजूद भी और प्रशासन के समझाए के बावजूद भी व्यापारियों के कान में जूं तक नहीं रहेंगी और सब्जी व्यापारी खासकर अपनी दुकानों को छोड़कर नीचे सड़कों पर दुकान लगाने लगे नगर पालिका के द्वारा अनेकों बार समझाइश दी गई कि अपनी-अपनी दुकानों पर ही दुकान लगाएं लेकिन सब्जी व्यापारी सड़क पर ही सब्जी की दुकान लगाते नजर आते हैं वही नैनपुर की सब्जी बाजार व्यवस्था ना होने के कारण सिंधी मोहल्ले तक नजर आने लगी है वहीं दुकान लगने के कारण बाजार में आने वाले लोगों को अपनी गाड़ी खड़ी करने की व्यवस्था नजर नहीं आती और गाड़ी सड़कों पर ही खड़े कर सब्जी खरीदते नजर आते हैं जिससे पैदल चलने वाले आम लोगों को भारी परेशानी का सामना करना पड़ता है


पार्किंग की नहीं व्यवस्था, बनती है जाम की स्थिति

नगर के अंदर सभी व्यापारियों के बड़े-बड़े प्रतिष्ठान होने के चलते यहां भारी माल वाहक दुकानों का सामान लेकर अंदर आते है। जिससे बाजार की इन सड़कों पर जाम की स्थिति निर्मित हो जाती है। इन वाहनो का नगर में प्रवेश करने का कोई समय निश्चित नहीं है। जिस कारण असमय बड़े वाहनो का आवागमन होता रहता है, ऐसी स्थिति में बाजार में घंटों जाम लगा रहता है। बाजार आने वाले दो पहिया एवं चार पहिया वाहनो को बेतरतीब तरीके से बाजार की सड़कों पर खड़ा कर दिया जाता है। वहीं नगर परिषद द्वारा भी नगर के बाजार क्षेत्र में पार्किंग की उचित व्यवस्था नहीं कराई गई है। बाजार क्षेत्र में वाहनों की बेतरतीब पार्किंग की व्यवस्था पर पुलिस भी रोक नहीं लगा पा रही है।


सड़क पर रखा है दुकानों का सामान


जनसंख्या एवं क्षेत्रफल के आधार पर सब्जी मंडी प्रांगण और अधिक छोटा नजर आने लगा है। नगर गांवों से जुड़ा हुआ है। यहां सटे गांव से किसान और मजदूरों द्वारा प्रतिदिन खरीदी की जाती है। नगर के बड़ा बाजार क्षेत्र में हाट-बाजार के दिन सबसे अधिक लोगों का खरीदी के लिए आना-जाना होता है। ग्रामीण क्षेत्रों से आने वाली सब्जी मंडी परिसर में नहीं समाती बाजार से लेकर  सिंधी मोहल्ले तक सभी स्थानों में सब्जियों की दुकाने लगाई जा रही है। प्रति  बुधवार और रविवार हाट बाजार में सब्जी मंडी में भीड़ रहने के कारण आम लोगों को निकलने में कठिनाइयों का सामना करना पड़ता है। किराना, सब्जी, फल व अन्य दुकानदारों द्वारा दुकान का सामान बाहर रखकर विक्रय किया जाता है। इसके साथ ही ग्राहक अपने वाहन रास्ते में ही खड़े कर देते है। जिससे मार्ग अवरुद्ध हो जाता है।


नैनपुर बस स्टैंड के भी बुरे हाल


नैनपुर नगर के एकमात्र बस स्टैंड के अब यही हाल हो गए हैं इस बस स्टैंड में बेफिजूल  पहले से ही दिन भर बस  खड़ी रहती जिन बसों का नंबर जाने का नहीं है वह बस भी पहले से ही आकर बस स्टैंड में डेरा जमाए रहती है और इसमें यह होता है कि आने जाने वाली बसों को खड़े होने की जगह ही नहीं मिलती साथ ही बस स्टैंड में फलों के ठेले आइसक्रीम के ठेले का जमघट लगा रहता है जिससे बसों के आने जाने में बहुत दिक्कत होती है और जाम की स्थिति बन जाती है

 शासन-प्रशासन को इन दुकानदारों को सामान बाहर रखने की निश्चित सीमा एवं सब्जी-फल विक्रेताओं को निश्चित स्थान व जगह का क्षेत्रफल निर्धारित किया जाना चाहिए।

 जिससे नगर में अतिक्रमण से बड़े-बड़े रास्ते गलियों में सिमट न रह जाये वही आम आदमी और व्यापारियों ने शासन प्रशासन से मांग की है कि जल्द से जल्द नगर की बाजार में पार्किंग की व्यवस्था बनाए जाए जिससे की व्यापारियों एवं आम आदमी को वाहन खड़े करने की सुविधा बन सके और परेशानी का सामना ना करना पड़े

No comments:

Post a Comment