कोरोना संक्रमण के ईलाज हेतु संसाधन मुहैया कराने नगर के युवा इंद्रपाल मरकाम एवं एडवोकेट सम्यक जैन ने की विधायक से मांग - revanchal times new

revanchal times new

निष्पक्ष एवं सत्य का प्रवर्तक

Breaking

रेवांचल टाइम्स अखबार पाठकों से अनुरोध करता है कि आप अपने सुझाव हम तक जरूर भेजें.. ताकि आने वाले समय मे हम आपकी मदद से और भी बेहतर कार्य कर सकें... साथ ही यदि आपको लेख अच्छा लगे तो इसे ओरों तक भी पहुंचाए.. प्रकाशन हेतु ख़बरें, विज्ञप्ति मोबाइल- 9406771592 पर व्हाट्सएप्प करें

 आवश्कता है  आवश्कता है ....

रेवांचल टाईम्स समाचार पत्र एव वेव पोर्टल में मध्यप्रदेश के सभी संभाग, जिला, तहसील, विकास खंडों, में संवाददाताओं की एंव विज्ञापनों व खबरों से सबंधित व्यक्ति संपर्क करें इन नम्बरों में 👉 9406771592/ 9425117297/ 8770297430/9165745947

Saturday, April 24, 2021

कोरोना संक्रमण के ईलाज हेतु संसाधन मुहैया कराने नगर के युवा इंद्रपाल मरकाम एवं एडवोकेट सम्यक जैन ने की विधायक से मांग


कोरोना संक्रमण की दूसरी  लहर से निपटने के लिए डिंडोरी जिले की स्वास्थ्य  व्यवस्था को तत्काल  सुधारने की आवश्यकता जताते हुए नगर के युवा इंद्रपाल मरकाम एवं एडवोकेट सम्यक जैन ने विधायक ओमकार सिंह मरकाम को पत्र लिखकर जिले में स्वास्थ्य व्यवस्था दुरुस्त करने हेतु आवश्यक संसाधनो की पूर्ति के लिए विधायक मद से राशि स्वीकृत करने की मांग की है।  पत्र में लेख हैं कि  अपनी विधायक निधि से वैश्विक महामारी कोरोना से पीड़ितों के इलाज के लिए आवश्यक मेडिकल उपकरण यथा सीटी स्कैन, ऑक्सिजन सिलेंडर, इंजेक्शन एवं दवाईयों के प्रावधान हेतु उचित राशि स्वीकृत कर आम नागरिक की समस्या का समाधान करने व ज़िले में  स्वास्थ्य व्यवस्था दुरुस्त कराने के लिए सुझाव भी दिए हैं। उन्होंने मांग किया हैं कि  शहर के हर 1.5 किमी पर रेपीड टेस्ट का बूथ लगवाए जिसके साथ एम्बुलेंस की व्यवस्था हो। ज़्यादा से ज़्यादा टेंस्टिंग, ज़्यादा से ज़्यादा वेक्सिन्न केम्प एवं जो लोग ख़रीद सकते हैं उनको उचित मुल्य पर लगवाने की सहूलियत दिया जाए। ज़िले के अस्पताल के लिए एक सेंट्रल वार रूम बनवाए जहाँ से कोई भी अत्यंत बीमार या जरुरी मरीज़ सीधे सम्पर्क कर अस्पताल जा सकता हैं इससे अस्पताल की मनमानी और सोर्स सिफ़ारिशें ख़त्म होंगी और सही मैनेजमेंट हो पाएगा। सरकारी अस्पताल का समय-समय पर दौरा करें साथ ही जो दवाएं मरीजों को नहीं मिल रही है, कौन सी दवाई कम है उसकी हर रोज मॉनिटरिंग कर उसके लिस्ट मंगवाए।  जिन पीड़ितों के सैम्पल लिए जा रहे है और आरटीपीसीआर रिपोर्ट 3-4 दिवस में आ रही है, अगर आइसोलेट होने की व्यवस्था नहीं है तो वह भी सुनिश्चहित किया जाए। वर्तमान में एक ही जगह टेस्टिंग हो रही है और वही पॉज़िटिव मरीज़ का उपचार हो रहा है, जिससे लोगों के ज़हन में डर भरा है वही पिछले दिनो प्रशासन की घोर लापरवाही सामने आयी थी जहाँ आपके हस्तक्षेप के बाद स्तिथि क़ाबू में आई थी,जो अपने आप में गम्भीर विषय है । युवाओं ने मांग की है कि उपरोक्त कार्यो के लिए  राशि एवं संसाधन की अनुशंसा करने की आशा व्यक्त की है।

No comments:

Post a Comment