तुलसी का पानी रखेगा इन बीमारियों को दूर, रोजाना सुबह सिर्फ करना होगा ये काम - revanchal times new

revanchal times new

निष्पक्ष एवं सत्य का प्रवर्तक

Breaking

रेवांचल टाइम्स अखबार पाठकों से अनुरोध करता है कि आप अपने सुझाव हम तक जरूर भेजें.. ताकि आने वाले समय मे हम आपकी मदद से और भी बेहतर कार्य कर सकें... साथ ही यदि आपको लेख अच्छा लगे तो इसे ओरों तक भी पहुंचाए.. प्रकाशन हेतु ख़बरें, विज्ञप्ति मोबाइल- 9406771592 पर व्हाट्सएप्प करें

 आवश्कता है  आवश्कता है ....

रेवांचल टाईम्स समाचार पत्र एव वेव पोर्टल में मध्यप्रदेश के सभी संभाग, जिला, तहसील, विकास खंडों, में संवाददाताओं की एंव विज्ञापनों व खबरों से सबंधित व्यक्ति संपर्क करें इन नम्बरों में 👉 9406771592/ 9425117297/ 8770297430/9165745947

Wednesday, April 14, 2021

तुलसी का पानी रखेगा इन बीमारियों को दूर, रोजाना सुबह सिर्फ करना होगा ये काम



मौजूदा समय में जिस तेजी से कोरोना वायरस (Coronavirus infection) के नए संक्रमित मामले सामने आ रहे हैं, उसे देखते हुए खुद को इंफेक्शन से बचाने के लिए अपनी इम्यूनिटी (Immunity) यानी बीमारियों से लड़ने की क्षमता को मजबूत बनाना बेहद जरूरी है. जब बात इम्यूनिटी बढ़ाने की आती है तो उसमें जड़ी बूटियों के साथ ही तुलसी के पत्तों (Tulsi leaves) से बनने वाले आयुर्वेदिक काढ़े का जिक्र जरूर होता है. औषधीय गुणों से भरपूर तुलसी को कई मर्ज की दवा के रूप में जाना जाता है.

इम्यूनिटी के लिए फायदेमंद है तुलसी

आयुर्वेद ( Ayurveda) की मानें तो तुलसी का पत्ता, वात पित्त और कफ इन तीनों दोषों को दूर कर सकता है इसलिए इम्यून सिस्टम को मजबूत बनाने में तुलसी को फायदेमंद माना जाता है. इसके अलावा भी रोजाना सुबह खाली पेट तुलसी का पत्ता खाने के कई फायदे हैं. आप चाहें तो तुलसी का पत्ता चबाने या तुलसी का काढ़ा (Tulsi kadha) पीने की जगह तुलसी ड्रॉप्स का भी सेवन कर सकते हैं. इन दिनों मार्केट में तुलसी ड्रॉप्स (Tulsi drops) भी मिलने लगे हैं. 1 गिलास गर्म पानी में 3-4 बूंद तुलसी ड्रॉप डालकर पीने से भी आपकी इम्यूनिटी मजबूत बनी रहेगी. साथ ही सूखी और गीली दोनों तरह की खांसी, बलमग और पाचन क्रिया को दुरुस्त रखने में भी मदद करती है तुलसी.

-रोजाना सुबह खाली पेट तुलसी की 3-4 पत्तियां खाएं या फिर तुलसी का रस पीएं. आप चाहें तो तुलसी की पत्तियों को पानी में खौलाकर उसका पानी भी पी सकते हैं. इससे इम्यून सिस्टम मजबूत होता है, सर्दी-खांसी (Common cold) और गले में खराश की समस्या दूर रहती है और आप बीमारियों से बचे रहते हैं.

-अगर किडनी से जुड़ी कोई समस्या (Kidney disease) हो तो तुलसी के पत्तों के रस में शहद मिलाकर पी सकते हैं.




-रोजाना तुलसी के पत्तियों के सेवन से ब्लड शुगर का लेवल (Blood sugar level) सामान्य बना रहता है जिससे डायबिटीज बीमारी का खतरा कम हो जाता है.

-अगर आपको भी अक्सर मुंह में छाले (Mouth Ulcer) की समस्या रहती है तो आप तुलसी का पानी या तुलसी का काढ़ा पी सकते हैं. ऐसा करने से खून साफ होता है और मुंह के छाले दूर हो जाते हैं.

-जिन लोगों को फ्लू, अस्थमा या सिरदर्द की समस्या हो उन्हें भी तुलसी का पानी या तुलसी का काढ़ा पीना चाहिए. जल्द आराम मिलेगा.

(नोट: किसी भी उपाय को करने से पहले हमेशा किसी विशेषज्ञ या चिकित्सक से परामर्श करें.

रेवांचल टाइम्स इस जानकारी के लिए जिम्मेदारी का दावा नहीं करता है.)


No comments:

Post a Comment