अब मध्य प्रदेश में 7 मई तक कोरोना कर्फ्यू, समीक्षा के लिए जिलों को तीन ग्रुप में बांटा गया.....देखिए आपका शहर किस ग्रुप में - revanchal times new

revanchal times new

निष्पक्ष एवं सत्य का प्रवर्तक

Breaking

रेवांचल टाइम्स अखबार पाठकों से अनुरोध करता है कि आप अपने सुझाव हम तक जरूर भेजें.. ताकि आने वाले समय मे हम आपकी मदद से और भी बेहतर कार्य कर सकें... साथ ही यदि आपको लेख अच्छा लगे तो इसे ओरों तक भी पहुंचाए.. प्रकाशन हेतु ख़बरें, विज्ञप्ति मोबाइल- 9406771592 पर व्हाट्सएप्प करें

 आवश्कता है  आवश्कता है ....

रेवांचल टाईम्स समाचार पत्र एव वेव पोर्टल में मध्यप्रदेश के सभी संभाग, जिला, तहसील, विकास खंडों, में संवाददाताओं की एंव विज्ञापनों व खबरों से सबंधित व्यक्ति संपर्क करें इन नम्बरों में 👉 9406771592/ 9425117297/ 8770297430/9165745947

Wednesday, April 28, 2021

अब मध्य प्रदेश में 7 मई तक कोरोना कर्फ्यू, समीक्षा के लिए जिलों को तीन ग्रुप में बांटा गया.....देखिए आपका शहर किस ग्रुप में



भोपाल: मध्य प्रदेश में बढ़ते कोरोना वायरस संक्रमण की रोकथाम के लिए मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहाने ने बुधवार को कोरोना समीक्षा बैठक की. इस बैठक में सभी जिलों के कोरोना नियंत्रण के प्रभारी मंत्रीगण, प्रभारी अधिकारी, कलेक्टर, कमिश्नर, पुलिस महानिरीक्षक, पुलिस अधीक्षक और जिलों के क्राइसिस मैनेजमेंट ग्रुप के सदस्य शामिल हुए.

मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने कहा कि मैं जल्द ही किसानों को संबोधित करूंगा. साथ ही उन्होंने अधिकारियों को निर्देश देते हुए कहा कि जिन क्षेत्रों में संक्रमितों की संख्या ज्यादा है, वहां पर कंटेनमेंट जोन बनाकर संक्रमण को रोक जाए. जैसे पहले कड़ाई थी, वैसे ही 7 मई तक कड़ाई का पालन कराएं, क्योंकि प्रदेश में कोरोना का प्रसार कम हुआ और रिकवरी रेट बढ़ी है. साथ ही पॉजिटिव रेट में भी कमी आई है. जो कि आप सभी लोगों के मेहनत का परिणाम है.




इस दौरान मुख्यमंत्री ने संबंधित अधिकारियों को कहा कि उपार्जन उद्योग, मनरेगा के कार्य सुरक्षा पूर्वक कोविड-19 की गाइडलाइंस का पालन करते हुए कराया जाए. साथ ही किसानों के गेहूं की खरीदी एक-एक दाना बिकने तक की जाए. मुख्यमंत्री ने कहा कि कोरोना कर्फ्यू की वजह से कई गतिविधियां प्रभावित हुईं हैं.

इसलिए गरीब परिवार से आने लोगों को 2 महीने का राशन केंद्र सरकार की तरफ से, जबकि तीन माह का राशन मध्य प्रदेश सरकार की तरफ से नि:शुल्क बितरित किया जा रहा है. ऐसे में मेरी लोगों से अपील है कि वे कोरोना कर्फ्यू का पालन करें, ताकि संक्रमण की चेन को तोड़ा जा सके.

वैक्सीन की 45 लाख डोज खरीदेगी सरकार
मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने कहा कि वैक्सीन की 45 लाख डोज खरीदी का आदेश सरकार ने दिया है. साथ ही रेमडेसिविर इंजेक्शन की सप्लाई के भी निरंतर प्रयास किए जा रहे हैं. कई अस्पताल एक घंटे पहले बताते हैं कि ऑक्सीजन की कमी है. ऐसे में तत्काल ऑक्सीजन उपलब्ध कराना मुश्किल होता है.




पहले से तय 8 में से 7 ऑक्सीजन प्लांट हुए शुरू
मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने कहा कि ऑक्सीजन की किल्लत को देखते हुए सरकार लगातार काम कर रही है. प्रदेश में पहले से तय 8 में से 7 ऑक्सीजन प्लांट शुरू हो चुके हैं. पूरे प्रदेश में छोटे-बड़े मिलाकर 58 ऑक्सीजन प्लांट लगाए जा रहे हैं. मालनपुर में भी ऑक्सीजन प्लांट को जल्द शुरू किया जाएगा.

5000 प्रशिक्षक होम आइसोलेशन मरीजों को सीखा रहे योगा
मुख्यमंत्री ने कहा कि योग से निरोग अभियान में 5000 प्रशिक्षक होम आइसोलेशन में रह रहे कोविड मरीजों को योग सिखा रहे हैं. खंडवा जैसे जिलों में ऑक्सीजन की ऑडिट हुई है, जिससे अनावश्यक आक्सीजन खराब होना बंद हुईं है.

लोगों से कोरोना लक्षण नहीं छिपाने की अपील
मुख्यमंत्री ने अधिकारियों को कोरोना के प्रति लोगों को जागरूक करने के भी निर्देश दिए. उन्होंने कहा कि ऐसे कई मरीज हैं, जिन्होंने लक्षण छिपाया. बाद में यह स्थिति गंभीर हो गई और 60-70 परसेंट से अधिक संक्रमण लंग्स में हो गया. जिसकी वजह से उनकी जान चली गई है. इसलिए मेरी लोगों से भी अपील है कि वे संक्रमण के लक्षण को न छिपाएं.

29 प्रतिशत बेड खाली हैं
मुख्यमंत्री ने कहा कि प्रदेश में 29 प्रतिशत बेड खाली हैं. जिसकी वजह से मरीजों को भर्ती होने में दिक्कत नहीं हो रही है. वहीं, सरकार की तरफ से 4000 ऑक्सीजन कंसंट्रेटर खरीदने के भी ऑर्डर दिए गए हैं.

कोरोना समीक्षा के लिए जिलों को बांटा गया तीन ग्रुपों में
मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने कहा कि एक साथ सभी जिलों की कोरोना समीक्षा बैठक नहीं हो सकती है. इसलिए जिलों को तीन ग्रुपों (A, B, C) में बांटा गया है.

No comments:

Post a Comment