पुरानी रंजीश के चलते युवक की हत्या शव को फेका नर्मदा नदी में - revanchal times new

revanchal times new

निष्पक्ष एवं सत्य का प्रवर्तक

Breaking

रेवांचल टाइम्स अखबार पाठकों से अनुरोध करता है कि आप अपने सुझाव हम तक जरूर भेजें.. ताकि आने वाले समय मे हम आपकी मदद से और भी बेहतर कार्य कर सकें... साथ ही यदि आपको लेख अच्छा लगे तो इसे ओरों तक भी पहुंचाए.. प्रकाशन हेतु ख़बरें, विज्ञप्ति मोबाइल- 9406771592 पर व्हाट्सएप्प करें

Tuesday, October 6, 2020

पुरानी रंजीश के चलते युवक की हत्या शव को फेका नर्मदा नदी में


रेवांचल टाइम्स - ग्राम पीपरपानी में नर्मदा नदी में मिले युवक के शव की हत्या का मण्डला पुलिस नें किया खुलासा, थाना कोतवाली पुलिस नें पुरानी रंजीश के चलते युवक की हत्या कर शव को नदी में फेंकने वाले 03 आरोपियों को किया गिरफ्तार थाना कोतवाली का अपराध क्र. 336/2020 धारा 302,201,203,120बी भादवि 

          1. राकेश उर्फ रक्कू मरावी पिता उमेश मरावी निवासी कम्पोस कालोनी मण्डला

                            2. सिमोन उर्फ गोलू मसीह निवासी कम्पोस कालोनी मण्डला (फरार)

3. ब्रजेश उर्फ बिज्जू यादव पिता गया प्रसाद यादव निवासी आर.डी. कालेज के सामने, ब़डी खैरी मण्डला

4. यशवंत उर्फ अस्सू धुर्वे पिता भागचंद धुर्वें निवासी कम्पोस कालोनी मण्डला


 मृतक के 02 मोबाईल फोन, घटना में प्रयुक्त हीरो मैस्ट्रो स्कूटर, एवं घटना से संबंधित अन्य साक्ष्य मिले

         वही दिनांक 02.08.2020 को थाना कोतवाली पर सूचनाकर्ता सुमरन साहू द्वारा सूचना दी गई कि ग्राम पीपरपानी में एक युवक की लाश नर्मदा नदी में उतरा रही है । उक्त सूचना पर थाना कोतवाली पुलिस द्वारा घटनास्थल पर पहुंचकर युवक के शव को पानी से बाहर निकालकर मृतक की शिनाख्त की गई जो उक्त शव की पहचान कंपोस कालोनी मण्डला में रहने वाले अंकित साहू उर्फ अभिषेक साहू के रुप में हुई । मृतक अंकित साहू दिनांक 31.07.2020 को शाम करीब 7 से 8 बजे के बीच अपने घर से घुमने के लिये निकला था जिसके वापस नही लौटने पर अंकित के परिजनों की रिपोर्ट पर थाना कोतवाली पर गुमइंसान क्र. 62/20 पंजीबद्ध कर लापता अंकित की तलाश की जा रही थी । मृतक अंकित के शव को नदी से बाहर निकालकर थाना कोतवाली पुलिस द्वारा मौके पर पंचनामा कार्यवाही कर मृतक के शव को पोस्टमार्टम के लिये भिजवाते हुये मृतक अंकित की मृत्यु के संबंध में थाना कोतवाली पर मर्ग क्र. 83/20 धारा 174 जा.फौ. के अंतर्गत पंजीबद्ध कर जाँच में लिया गया ।  मर्ग जाँच के दौरान मृतक अंकित उर्फ अभिषेक साहू के परिजनों द्वारा उसके शव के पास से मिले सामान में उसका मोबाईल तथा पर्स गायब होना बताया गया । मृतक के घर से जाने के दो दिन बाद नदी में उसका शव मिलने, मृतक की पोस्टमार्टम रिपोर्ट से प्रकाश में आये तथ्यों तथा मृतक का फोन और पर्स गायब होने से थाना कोतवाली पुलिस को मृतक की मृत्यु के कारणों को लेकर संदेह उत्पन्न हो रहा था । थाना प्रभारी कोतवाली निरीक्षक निलेश दोहरे द्वारा सम्पूर्ण घटनाक्रम से वरिष्ठ अधिकारियों को अवगत कराने पर पुलिस अधीक्षक मण्डला श्री दीपक कुमार शुक्ला द्वारा थाना प्रभारी कोतवाली को थाना स्तर पर विशेष टीम का गठन कर मृतक अंकित की मृत्यु के कारणों का खुलासा करने तथा घटना की पूरी बारिकी से जांच कर घटनाक्रम के बारें में पता करने के लिये निर्देशित किया गया । 

वरिष्ठ अधिकारियों द्वारा दिये गये मार्गदर्शन पर कार्यवाही करते हुए थाना प्रभारी कोतवाली निरीक्षक निलेश दोहरे के नेतृत्व में थाना कोतवाली पर विशेष टीम का गठन कर मृतक अंकित साहू की मृत्यु का सही कारण ज्ञात करने के लिये लगाया गया । मर्ग की जाँच के दौरान पुलिस द्वारा मृतक अंकित साहू के परिजनों, उसके खास दोस्तों तथा अक्सर उससे मिलने जुलने वाले लोगों से बारिकी से पूछताछ की गई साथ ही पुलिस द्वारा अपने मुखबिर तंत्र को सक्रिय कर मृतक के मोबाईल फोन की तलाश भी लगातार की जा रही थी । प्रकरण की जाँच के दौरान थाना कोतवाली पुलिस को जानकारी मिली की मृतक अंकित को दिनांक 31.09.2020 को आखरी बार राकेश मरावी, बिज्जू यादव, अस्सू और गोलू के साथ देखा गया था । गोलू मसीह से मृतक अंकित की पुरानी रंजीश होने की जानकारी भी पुलिस को जांच के दौरान अपने मुखबिरो के माध्यम से प्राप्त हुई । उक्त बिंदुओं पर बारिकी से जांच-पड़ताल, पुलिस द्वारा पूछताछ में राकेश मरावी द्वारा दिये गये बयानों में विरोधाभास तथा सायबर सेल मण्डला के माध्यम से प्राप्त महत्वपूर्ण तकनीकी जानकारी के आधार पर थाना कोतवाली पुलिस द्वारा संदेही राकेश मरावी को पकड़कर सख्ती से पूछताछ की गई । पुलिस द्वारा विवेचना मे जुटाये गये सबूतों के आधार पर की गई पूछताछ में संदेही राकेश मरावी द्वारा पुलिस के सामने अपना जुर्म स्वीकार करते हुये अपने साथियों बिज्जू यादव, अस्सू उर्फ यशवंत धुर्वे और गोलू उर्फ सिमोन मसीह के साथ मिलकर मृतक अंकित उर्फ अभिषेक साहू की हत्या कर उसके शव को नर्मदा नदी में फेंकना स्वीकार किया गया । आरोपी राकेश साहू ने पुलिस को दिये बयान में बताया की उनके साथी सिमोन उर्फ गोलू मसीह निवासी कम्पोस कालोनी की मृतक अंकित साहू से पुरानी रंजीश थी । इसी रंजीश के चलते दिनांक 31.09.2020 को राकेश मरावी, बिज्जू यादव, अस्सू उर्फ यशवंत धुर्वे और गोलू उर्फ सिमोन मसीह नें अंकित की हत्या की योजना बनाकर उसे बिज्जू यादव के साथ कंपोस कालोनी से घुमने के बहाने बुलाकर अपने साथ सिद्ध बाबा टेकरी के पीछे सूनसान स्थान पर ले गये जंहा चारों ने एकराय होकर मृतक अंकित के साथ मारपीट की ओर उसके बाद उसके सिर पर बड़ा पत्थर पटककर उसकी हत्या कर दी । उसके बाद चारों आरोपियों  द्वारा मृतक अंकित के शव को अपने साथ टू-व्हीलर पर ले जाकर ग्राम पीपरपानी में नर्मदा नदी के पुल से पानी में फेंक दिया गया । थाना कोतवाली पुलिस द्वारा आरोपियों की धरपक़ड़ के लिये विशेष टीमों का गठन कर आरोपी राकेश मरावी की निशानदेही पर अलग अलग स्थानों पर दबिश देकर घटना के अन्य दो आरोपियों बिज्जू यादव और अस्सू उर्फ यशवंत धुर्वे को भी गिरफ्तार कर लिया गया है । इन दोनों आरोपियों द्वारा भी पुलिस द्वारा पूछताछ में अपना जूर्म स्वीकार किया गया है । पुलिस नें आरोपियों की निशानदेही पर उनके कब्जे से घटना में प्रयुक्त टु-व्हीलर वाहन तथा मृतक अंकित के दो मोबाईल फोन तथा अन्य साक्ष्यों को जप्त किया गया है । मृतक अंकित की हत्या के संबंध में थाना कोतवाली पुलिस द्वारा चारों आरोपियों के विरुद्ध अपराध क्र. 336/2020 धारा 302,201,203,120बी भादवि के अंतर्गत पंजीबद्ध कर अग्रिम विवेचना की जा रही है । घटना का अन्य आरोपी सिमोन उर्फ गोलू मसीह गिरफ्तारी से बचने के लिये फरार हो गया है जिसकी गिरफ्तारी के लिये पुलिस द्वारा लगातार दबीश दी जा रही है ।

No comments:

Post a Comment