ब्रेकिंग न्यूज़--- वन विभाग के अधिकारी कर्मचारी वन्यप्राणियो के प्रति नही हैं संवेदनशील - revanchal times new

revanchal times new

निष्पक्ष एवं सत्य का प्रवर्तक

Breaking

रेवांचल टाइम्स अखबार पाठकों से अनुरोध करता है कि आप अपने सुझाव हम तक जरूर भेजें.. ताकि आने वाले समय मे हम आपकी मदद से और भी बेहतर कार्य कर सकें... साथ ही यदि आपको लेख अच्छा लगे तो इसे ओरों तक भी पहुंचाए.. प्रकाशन हेतु ख़बरें, विज्ञप्ति मोबाइल- 9406771592 पर व्हाट्सएप्प करें

Sunday, October 4, 2020

ब्रेकिंग न्यूज़--- वन विभाग के अधिकारी कर्मचारी वन्यप्राणियो के प्रति नही हैं संवेदनशील




रेवांचल टाइम्स - धीरे धीरे वन्य प्राणी अब लुप्त होने की कगार में वही वन विभाग का अमला केवल ऑफिसों तक ही सिमट के रह गया है

         मामला परिक्षेत्र जगमण्डल अंजनिया के अंतर्गत मधुपुरी बीट के खड़देवरा का है जहां वन विभाग द्वारा मंकी रेस्क्यू हेतु पिंजडा लगाया गया है पिंजड़े पर एक बंदर फस गया जिसकी सूचना ग्रामीणों के द्वारा दूरभाष पर बीट गार्ड महेश पन्द्रों को  उनके मोबाइल नंबर 6260315335 में सूचना देने का प्रयास किया गया किंतु उनके  द्वारा फोन नही उठाया गया  उसके बाद परिक्षेत्र अधिकारी जगमण्डल श्यामलता मरावी  के शासकीय दूरभाष क्रमांक 9424792845 पर संपर्क किया गया उन्होंने भी फोन नही उठाया बार बार फोन करने पर भी फोन नही उठाया गया फिर वनमंडल अधिकारी के शासकीय नंबर 9424792825 पर सम्पर्क किया गया जो बंद है पुनः उप वन मंडल अधिकारी जगमण्डल के शासकीय नंबर 9424792827 पर सम्पर्क किया गया वो भी नही लगा फिर एस डी ओ के पर्सनल नंबर  9424676550 पर सम्पर्क किया गया वो भी नही लगा । इससे अनुमान लगाया जा सकता है कि वन विभाग के अधिकारी एवं कर्मचारी वनों एवं वन्यप्राणियो की सुरक्षा के प्रति कितने लापरवाह हैं इनकी लापरवाही से वन्यप्राणियो की जान खतरे में है  4 अक्टूबर को सुबह 9 बजे लालमुँह का बंदर पिंजड़े में कैद हुआ और शाम 6 बजे तक संपर्क करने का प्रयास किया गया किंतु किसी ने ग्रामीणों का फोन अटेंड नही किया जिला प्रशासन और जिला के जनप्रतिनिधियो को भी इस विभाग की खेरखबर लेना जरूरी है । भगवान भरोसे चल रहा है वन विभाग।

No comments:

Post a Comment