बालाघाट: रेवांचल टाइम्स की खबर से बौखलाए ग्राम पंचायत मोहझरी के सरपंच सचिव - revanchal times new

revanchal times new

निष्पक्ष एवं सत्य का प्रवर्तक

Breaking

रेवांचल टाइम्स अखबार पाठकों से अनुरोध करता है कि आप अपने सुझाव हम तक जरूर भेजें.. ताकि आने वाले समय मे हम आपकी मदद से और भी बेहतर कार्य कर सकें... साथ ही यदि आपको लेख अच्छा लगे तो इसे ओरों तक भी पहुंचाए.. प्रकाशन हेतु ख़बरें, विज्ञप्ति मोबाइल- 9406771592 पर व्हाट्सएप्प करें

Saturday, 11 July 2020

बालाघाट: रेवांचल टाइम्स की खबर से बौखलाए ग्राम पंचायत मोहझरी के सरपंच सचिव


बालाघाट जिले के अंतर्गत जनपद पंचायत लांजी के तहत ग्राम पंचायत मोहझरी के मजदूरों द्वारा एलडीएम लांजी को शिकायत प्रस्तुत किया गया था जी ग्राम पंचायत के तहत
 मनरेगा मैं काम करने वाले मजदूरों को 1 वर्ष से अधिक समय बीत जाने के बाद मजदूरी का भुगतान नहीं किया गया है जिसकी खबर सुनते ही सरपंच सचिव द्वारा ऊक्त मजदूरों से कोरे कागज पर हस्ताक्षर करवा कर अपनी उल्लू सीधा कर रहे हैं
ग्राम मोहझरी निवासी सुरेश भगत ने बताया कि रेवांचल टाइम्स में खबर लगने के बाद सरपंच सचिव द्वारा उक्त शिकायत करता गरीब अनपढ़ मजदूरों से कोरे कागज पर हस्ताक्षर सरपंच सचिव द्वारा करवाया गया है जिसकी शिकायत थाना लांजी मैं प्रथम दृष्टिकोण के तहत लिखित शिकायत प्रस्तुत किया गया है की सरपंच सचिव के द्वारा कभी भी आगामी समय में इन गरीब मजदूरों को कोई अन लीगल केस में फसाया जा सकता है क्योंकि सरपंच एवं सचिव आरक्षण जाति के व्यक्ति हैं आरक्षण के तहत ग्राम में अपनी दबंग ता दिखा रहे हैं विदित हो कि ग्राम पंचायत मोहझरी जनसंख्या के आधार पर लांजी किरनापुर विधानसभा क्षेत्र में सबसे बड़ी बसती है सबब ऐसा की ग्राम पंचायत में  शासन द्वारा अनेकों योजना के तहत राशि उपलब्ध कराई जाती है किंतु सरपंच सचिव द्वारा अपनी मनमानी करते हुए गरीब आदिवासी हरिजन महिलाओं को योजनाओं का लाभ नहीं दिलाया जाता है अगर लाभ भी दिलाया जाता है तो सरपंच सचिव द्वारा पूरी मजदुर न देकर अधूरी मजदूरी दीया जाता है उन्हीं मजदूरों की एवज में सरपंच सचिव द्वारा अपने करीबी लोगों के नाम को मस्टर रोल में जोड़कर बची हुई राशि  को अपने सगे संबंधियों को दिलाते हैं सचिव चौरे को शासन द्वारा जिस भी पंचायत में पदस्थ किया गया है वहां पर सचिव द्वारा अपनी जाति का बल दिखाते हुए गरीब मजदूरों के साथ ऐसा ही छल किया गया ह
आगे बताया गया है की सचिव 1 वर्षों से ग्राम पंचायत में पदस्थ है इनके आने के बाद ही ग्राम पंचायत में ऐसा कृत्य किया जा रहा है जो असंवैधानिक है
जो गरीब मजदूरों के साथ अन्याय सरपंच सचिव द्वारा किया जा कर कोरे कागज पर हस्ताक्षर करवाना उचित नहीं है
बालाघाट रेवांचल टाइम्स से खेमराज बनाफरे की खबर

No comments:

Post a comment