मंडला: कोई भी टाइम आओ शराब मिलेगी... उड़ रही नियमों की धज्जियां - revanchal times new

revanchal times new

निष्पक्ष एवं सत्य का प्रवर्तक

Breaking

रेवांचल टाइम्स अखबार पाठकों से अनुरोध करता है कि आप अपने सुझाव हम तक जरूर भेजें.. ताकि आने वाले समय मे हम आपकी मदद से और भी बेहतर कार्य कर सकें... साथ ही यदि आपको लेख अच्छा लगे तो इसे ओरों तक भी पहुंचाए.. प्रकाशन हेतु ख़बरें, विज्ञप्ति मोबाइल- 9406771592 पर व्हाट्सएप्प करें

Sunday, June 14, 2020

मंडला: कोई भी टाइम आओ शराब मिलेगी... उड़ रही नियमों की धज्जियां

शराब ठेकेदार उड़ा रहा नियमों की धज्जियां कर रहा उल्लंघन 9:00 बजे के बाद भी खुल रही है शराब की दुकान                                        अंगद की पैर की तरह गांव गांव जड़ जमाये बैठे शराब ठेकेदार           ठेकेदारो के द्वारा जिले से लेकर गाँव गाँव में देशी-विदेशी शराब के खोल दिये है महखाने

 मण्डला- शराब ठेकेदार के द्वारा अब शासन के आदेश ओर लॉक डाउन के नियमों का भी पालन नहीं किया जा रहा है जहाँ मंडला जिले में सुबह 7:00 बजे से लेकर रात में 9:00 बजे तक दुकान खोलने की अनुमति प्रदान की गई है वही ठेकेदार के द्वारा अपनी मनमानी के चलते रात में 9:00 के बाद भी शराब की दुकानें संचालित करते नजर आ रहै है, वही जिला आबकारी विभाग मूक दर्शक बन काम करता नजर आ रहा है
जिला आबकारी अधिकारी को अबैध शराब की बिक्री से सूचना देने में कहा जाता है, कि आप जो भी कहना या बताना है मेरे ऑफिस आ कर बात करें में फोन पर कोई बात नही कर सकता 
        जिले के कोई भी विकास खण्ड वाकी नही जैसे नैनपुर, मोहगांव, चाबी, घुघरी बिछिया, मवई, नारायणगंज निवास,का कोई भी कस्वा हो या गाँव जहाँ नहीं चलता है अवैध शराब का कारोबार जहाँ शराब ठेकेदार और ठेकेदार के गुर्गे करते न हो सप्लाई,
   
      वही जहाँ जिले में जब से नैनपुर समूह के लायसेंसी ने पैर जमाये हैं तब से नैनपुर, पिण्डरई, घुघरी, चाबी, मोहगांव, बिछिया मवई, निवास नारायणगंज, वीजादांडी,के ऐसा कोई भी गांव ओर कस्वे नहीं बचे जहां इनके द्वारा शराब न पहुंचाई जा रही हो। पैकारों की फौज खड़ी कर इन क्षेत्रों में नशे की खेप भारी मात्रा में पहुँचाई जा रही है। पुलिस और आबकारी विभाग भी इन समूह के ठेकेदारों पर इतना मेहरबान हैं कि ये बेखौफ होकर शराब ठेकेदार सुबह से लेकर शाम तक गांव-गांव गली गली शराब पहुंचा रहा और इन लोगो के माथे पर किसी भी प्रकार की चिंता की लकीरें दिखाई नही देती है वही आबकारी भी कार्यवाही के नाम पर शून्य सा नजर आ रहा है ऐसा लगता है मानो आबकारी विभाग को भी इन ठेकेदार के एहसानो से दबे पड़े है, अवैध शराब बिक्री में कार्यवाही की बात पर ये गांधी जी के तीन बंदरो की तरह हो जाते है न बुरा सुनो न बुरा कहो न बुरा देखो जिले के आबकारी अधिकारी इसी तर्ज में काम करता नजर आ रहा है।

         जिले में जब से केंद्र और राज्य सरकार के आदेश से शराब की दुकाने खुली है तभी से शराब ठेकेदारों की वार्ड वार्ड ओर गांव गांव में नौटंकी भी चालू हो गई है। वही आबकारी विभाग के अधिकारियों को गुमराह करते हुये यह कहा जा रहा है कि दुकानों में शराब की बिक्री न के बराबर है। यदि ऐसा ही हाल रहा तो लायसेंस फीस भी भरना मुश्किल हो जायेगा। जबकि शराब बिक्री की स्थिति बिल्कुल विपरीत है। शराब ठेकेदार के द्वारा कस्वे, गांवो औऱ नगर के वार्डो में मनमाने दामों में शराब के शौंकीनों को शराब पहुंचा कर दे रहे हैं। वही सूत्रों की माने तो नैनपुर के लायसेंसी तो अपनी हदें इतनी पार कर दी कि मण्डला नगर में भी इस समूह की शराब पहुंच रही है। जहाँ शराब की दुकानें बंद है फिर भी इनके द्वारा पहुँचा कर पान, किराना होटल घरों तक विकवा रहें है, आबकारी विभाग की बहुत अधिक मेहरबानी जो नैनपुर समूह के ठेकेदार पर करती नजर आ रही है इसलिए ठेकेदार भी नियमों की सारी हदें पार करता नजर आ रहा है। ये घुघरी, मोहगांव, चाबी, नैनपुर और पिण्डरई की दुकानों से शराब का विक्रय तो करते ही हैं, वहीं पैकारों की फौज खड़ी कर गांव-गांव सप्लाई भी की जा रही है। 

            जिले भर में अवैध शराब का विक्रय करने वाले नैनपुर समूह के लायसेंसी ठेकेदार का मैनेजर जो अपने गुर्गों के साथ गांव-गांव देशी-विदेशी शराब का विक्रय धड़ल्ले से कर रहे हैं और जिम्मेदार मौन हैं। ऐसा लगता है जैसे नैनपुर समूह के सामने अपना ईमान गिरबी रखते हुये नत मस्तक हो गये हैं। सूत्रों के माध्यम से जानकारी प्राप्त हुई है कि डिठौरी, सुभरिया, महाराजपुर, लिंगापौंड़ी, रामनगर जैसे और भी सैंकड़ों नाम हैं जहां शराब की सप्लाई हो रही है। जिम्मेदार देख के भी अनदेखी कर रहे हैं। सत्तापक्ष हो या विपक्ष शराब के मामले पर चुप्पी साधे हुये हैं जैसे मुंह में दही जम गया हो। शराब के नशे से गांव का युवावर्ग अपनी जान को काल के गाल में पहुंचा रहै है। सूत्रों की माने तो कुछ समय पूर्व बक्छेरादौना में जिस आदमी की बीमारी से मौत हुई है वह एक दिन पहले नशे में चूर था। बेहिसाब और बेरोक टोक मनमाने दामों में शराब गाँव-गॉव सप्लाई की जा रही है। इधर दुकान खुलने का समय है प्रात: 7 से रात्रि 9 बजे तक खुलेंगी शराब दुकानें
            तत्कालीन कलेक्टर एवं जिला दण्डाधिकारी डॉ. जगदीश चन्द्र जटिया ने भारत सरकार, गह मंत्रालय द्वारा जारी आदेश एवं मध्यप्रदेश शासन वाणिज्यिक कर विभाग द्वारा जारी निर्देशों के अनुक्रम में जिले की समस्त देशी एवं विदेशी मदिरा दुकाने एवं भांग दुकानों को 1 जून से प्रात: 7 बजे से रात्रि 9 बजे तक 14 घण्टे खोलने की सशर्त अनुमति जारी कर दी है। जारी आदेश के तहत् मदिरा एवं भांग दुकान पर समुचित साफ-सफाई रखने तथा दुकानों के बाहर एक समय में 5 से अधिक व्यक्ति एकत्रित नहीं होने के निर्देश दिए गए हैं। मदिरा एवं भांग दुकान पर कार्यरत् कर्मचारियों को स्वयं सेनेटाईज होकर मॉस्क एवं दस्तानों का उपयोग करना आवश्यक होगा। मदिरा एवं भांग दुकान के सामने उपभोक्ताओं को सोशल डिस्टेंसिंग, पर्सनल डिस्टेंसिंग तथा उपभोक्ताओं को कम से कम 6-फीट की दूरी, 2 गज की दूरी बनाये रखने के लिए एक-एक वर्गमीटर के चौखाने अथवा गोलाकार चूना से बनाये जायें। मदिरा एवं भांग दुकान से विक्रय होने वाला उत्पाद स्वच्छ एवं साफ जगह पर संग्रहित करें। ऑन लायसेंस मदिरा दुकानों के अहातों में मदिरापान करना पूर्णत: प्रतिबंधित रखने के आदेश जारी हुए है। पर जमीनी हकीकत कुछ और ही है।                                    
              इनका कहना है - आदेशो के तहत शराब दुकान सुबह 7 से रात्रि 9 बजे ही संचालित की जा सकती है उसके बाद नही बाकी बाते ऑफिस में आकर बात करे इंद्रेश तिवारी जिला आबकारी मण्डला।
  रेवांचल टाइम्स से महेन्द्र विश्वकर्मा नैनपुर

No comments:

Post a Comment